क्या इस बार परंपरा बदलेगी?:अब ब्यूरोक्रेसी का पुनर्गठन, नए साल में नए सीएस की नियुक्ति हाेगी, पहली बार 9 सीनियर दावेदार

जयपुर2 महीने पहलेलेखक: मनोज शर्मा
  • कॉपी लिंक
10 सीनियर्स को लांघकर निरंजन आर्य को सीएस बनाया था। - Dainik Bhaskar
10 सीनियर्स को लांघकर निरंजन आर्य को सीएस बनाया था।

गहलोत सरकार के पुनर्गठन के बाद अब ब्यूरोक्रेसी में बड़ा फेरबदल होना तय है। सरकार ने 2023 के विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। इसलिए, नए मंत्रियों की सलाह पर अफसरों की नए सिरे से तैनाती हो सकती है। इसके अलावा मौजूदा सीएस निरंजन आर्य का कार्यकाल जनवरी, 2022 में पूरा हो रहा है।

पिछली बार सीनियोरिटी में 10वें नंबर के आर्य को सरकार ने सीएस बनाया था। उनके रिटायर होने के बाद उनसे 9 सीनियर अफसर सीएस बनने की दौड़ में हैं। खास बात है कि टॉप-4 में 3 महिलाएं हैं। इनमें से किसी एक को भी सीएस का जिम्मा मिल सकता है।

बड़ा सवाल - सरकार आर्य से जूनियर अफसर को जिम्मेदारी देगी या सीनियर्स की ओर रुख करेगी?

  • रविशंकर श्रीवास्तव : 1985 बैच, इंदिरागांधी पंचायतीराज संस्थान में डीजी हैं, सितंबर 2022 में रिटायरमेंट। संभावना - अभी प्राइम पोस्ट नहीं मिली।
  • ऊषा शर्मा : 1985 बैच, जून, 2023 में रिटायरमेंट। 2012 से दिल्ली में तैनात। पिछली गहलोत सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर रही हैं। मौका संभव।
  • पीके गोयल: 1988 बैच, 2023 में रिटायरमेंट, अभी एसीएस स्कूल शिक्षा हैं। सुबोध के चलते संभावना कम।
  • नीलकमल दरबारी : 1987 बैच, फरवरी, 2023 में रिटायरमेंट। केंद्र में कृषि मंत्रालय में एमडी तैनात। 2018 से डेपुटेशन पर हैं। संभावना कम है।
  • वी. श्रीनिवास : 1989 बैच, 2026 में रिटायरमेंट, केंद्र में सचिव बन गए हैं। रिटायरमेंट 6 साल बाद, केंद्र से लौटना भी मुश्किल।
  • वीनू गुप्ता :1987 बैच, दिसंबर, 2023 में रिटायरमेंट। अभी पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड में अध्यक्ष हैं। जयपुर में सबसे सीनियर हैं। संभावना है।
  • सुभ्रा सिंह : 1989 बैच, 2026 में रिटायरमेंट, 2011 से दिल्ली में हैं, और अभी भी दिल्ली में रेजीडेंट कमिशनर हैं। संभावना कम है।
  • सुबोध अग्रवाल : 1988 बैच, दिसंबर, 2025 में रिटायरमेंट। अभी माइंस, पेट्रोलियम में एसीएस हैं। सचिवालय में सबसे सीनियर।
  • राजेश्वर सिंह : 1989 बैच, 2024 में रिटायरमेंट, अभी रेवन्यू बोर्ड अजमेर में चेयरमैन। नया चेहरा संभव।

आर्य से जूनियर 4 आईएएस भी सूची में, लेकिन इनमें से किसी पर सहमति बनने के आसार कम

  • रोहित कुमार सिंह : 1989 बैच, केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय में अति.सचिव हैं। मार्च, 2024 में रिटायरमेंट। एसीएस पंचायतीराज रहते हुए सरकार से नाराज होकर गए थे, संभावना कम।
  • संजय मल्होत्रा : 1990 बैच, फरवरी, 2028 में रिटायरमेंट। केंद्रीय बिजली मंत्रालय में एडि. सचिव हैं। 2020 में केंद्र में डेपुटेशन पर गए, संभावना नहीं के बराबर।
  • आर वेंकटेश्वरन : 1990 बैच,जून, 2022 में रिटायरमेंट, रीपा में बतौर डीजी तैनात हैं। इनके पास एक साल का ही कार्यकाल बचा हुआ है। इसलिए संभावना भी कम।
  • सुधाश पंत : 1991 बैच, फरवरी 2027 में रिटायरमेंट। अभी एसीएस पीएचईडी हैं। सबसे जूनियर एसीएस हैं। 7 साल का समय है। सीनियोरिटी को दरकिनार कर इन्हें सीएस बनाना मुश्किल।
खबरें और भी हैं...