पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महामारी के बीच रणथंभौर में शूटिंग विवाद केंद्र पहुंचा:एनटीसीए ने रणथंभौर में फिल्म शूटिंग बंद करने के दिए आदेश, डीआईजी फॉरेस्ट ने मेल कर पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीआईजी फॉरेस्ट (एनटीसीए) ने मेल कर पूरे मामले की जल्द ही रिपोर्ट भी चाही है। इसकी एक कॉपी रणथंभौर के फील्ड डायरेक्टर को भी भेजी हुई है। - Dainik Bhaskar
डीआईजी फॉरेस्ट (एनटीसीए) ने मेल कर पूरे मामले की जल्द ही रिपोर्ट भी चाही है। इसकी एक कॉपी रणथंभौर के फील्ड डायरेक्टर को भी भेजी हुई है।
  • आम और खास का फर्क देखिए- जब दूसरे पर्यटक स्थल खोले जा चुके थे तो टाइगर रिजर्व को बंद किया, वहीं एनटीसीए की बगैर मंजूरी सब-कुछ बंद होने के बावजूद खास के लिए शूटिंग चालू रखी

कोविड-19 में जब सबकुछ बंद था तो सरकार ने रणथंभौर का जंगल फिल्म शूटिंग करने वालों के हवाले कर दिया, ताकि वो कहीं भी घूमकर मनचाहे शॉट ले सकें। दैनिक भास्कर की ओर से इसका खुलासा किया गया तो मामला केंद्र सरकार तक पहुंचा। इसके बाद उन्होंने प्रदेश के चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन को पत्र लिख तत्काल इसे बंद कराने के आदेश दिए हैं।

15 जून को इस संबंध में डीआईजी फॉरेस्ट (एनटीसीए) ने मेल कर पूरे मामले की जल्द ही रिपोर्ट भी चाही है। इसकी एक कॉपी रणथंभौर के फील्ड डायरेक्टर को भी भेजी हुई है।

इधर इस शूटिंग पर सरकार की मेहरबानी इस कदर है कि वनमंत्री सुखराम विश्नोई तक हाशिये पर नजर आए। उनके शूटिंग बंद करने के निर्देश बेदम साबित हो चुके हैं। वहीं फिल्म शूटिंग ने आम और खास के बीच फर्क भी साफ तौर पर खड़ा कर दिया है। चूंकि एनटीसीए के आदेश के हवाले से ही वन विभाग ने अभी तक किसी टाइगर रिजर्व में टूरिज्म शुरू नहीं किया है, जबकि दूसरे पर्यटक स्थल खोले जा चुके हैं।

खास को पूरे मौके मिले, हजारों परिवारों के पेट पालने की कोई सुनवाई नहीं

मध्यप्रदेश में सभी टाइगर रिजर्व पर्यटन के लिए खोले जा चुके हैं। प्रदेश में भी रणथंभौर, सरिस्का में हजारों परिवारों के पेट इन्हीं टाइगर टूरिज्म पर निर्भर करता है। इसके हवाले से 16 जून को ही सफारी शुरू करने की सिफारिश की गई है। शूटिंग पूरे लॉकडाउन में जारी रही, जबकि महामारी पीक पर थी।

बाघिन शिफ्टिंग तक रोकी गई : एनटीसीए ने रणथंभौर से बाघिन टी-124 यानी रिद्धी को सरिस्का भेजने की मंजूरी दी गई है। दोनों टाइगर रिजर्व की सहमति के बावजूद इसमें भी अड़ंगे लगाए हुए हैं, जिसके पीछे रणथंभौर में चल रही शूटिंग से ही संबंध जोड़ा जा रहा है।