जयपुर में पैर काटकर हत्या का मामला:एक किलो के चांदी के कड़े लूटने वाले बदमाशों का तीसरे दिन भी सुराग नहीं, पूरे जिले की पुलिस तलाश में जुटी

जयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर जिले के जमवारामगढ़ कस्बे में मिला था महिला का शव। - Dainik Bhaskar
जयपुर जिले के जमवारामगढ़ कस्बे में मिला था महिला का शव।

जयपुर के जमवारामगढ़ इलाके में 56 वर्षीया महिला के कुल्हाड़ी से दोनों पैर काटकर एक किलो वजनी चांदी के कड़े लूटने वाले बदमाशों का तीसरे दिन भी पता नहीं चला है। मामले में जयपुर ग्रामीण जिले ने पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी है। जिले के सभी थानों से क्राइम इंवेस्टिगेशन में माहिर अफसरों व स्पेशल टीम के पुलिसकर्मियों को जमवारामगढ़ बुला लिया है। खुद एसपी शंकरदत्त शर्मा, एडिशनल एसपी धर्मेंद्र यादव, एएसपी राम कुमार कस्वां ने गांव में कैंप कर लिया है। जयपुर कमिश्नरेट से भी एडिशनल डीसीपी अवनीश शर्मा और कई थानों से पुलिस को जमवारामगढ़ भेजा गया था।

100 से ज्यादा पुलिसकर्मियों की 10 टीमें गठित की, जयपुर कमिश्नरेट भी पुलिस को भेजा

सायबर सेल के प्रभारी एएसआई रतनदीन और टीम के अलावा अलावा डॉग स्क्वायड की टीम तीन दिनों से फरार अपराधियों के बारे में जानकारी हासिल करने में जुटी हुई है। लेकिन फिलहाल कोई सुराग नहीं लगा है। 100 से ज्यादा पुलिसकर्मियों की 10 टीमें बनाकर जमवारामगढ़ के आसपास से गुजरने वाले रास्तों पर कहीं भी सीसीटीवी लगा है तो वहां भी रिकॉर्डिंग देखी जा रही है। क्षेत्र के संदिग्ध बदमाशों को चिन्हित कर घटना के दिन उनकी लोकेशन निकाली जा रही है। इसके अलावा कंजर, सांसी, बावरिया बस्तियों के डेरों को भी चिन्हित कर पूछताछ की जा रही है। स्थानीय निवासियों से बातचीत की जा रही है। गांव में आसपास से गायब लोगों को चैक किया जा रहा है।

28 घंटे बाद हुआ था शव का पोस्टमार्टम व अंतिम संस्कार
आपको बता दें कि गीता देवी शर्मा की निर्मम तरीके से हत्या के बाद गांव में आक्रोश व्याप्त हो गया था। इसके बाद मंगलवार दोपहर को ही ग्रामीणों ने शव को अपने कब्जे में लिया था। पुलिस प्रशासन को शव उठाने नहीं दिया। गीता के परिजनों को 15 लाख रुपए की आर्थिक मदद, एक सदस्य को नौकरी की मांग की। विप्र सेना सहित कई सामाजिक संगठन भी जमवारामगढ़ में चावंडिया खतेहपुरा पहुंच गए। वहां धरने में शामिल हो गए।

तब एसपी शंकरदत्त शर्मा की समझाइश से उग्र लोग शांत हुए। जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा मौके पर पहुंचे। वहां धरने पर मौजूद जयपुर ग्रामीण से सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ से बातचीत की। इसके बाद प्रशासन ने पांच लाख रुपए की आर्थिक मदद और एक डेयरी देने का आश्वासन दिया। 3 लाख की मदद सामाजिक संगठनों ने की। तब 28 घंटे बाद गीता देवी का शव घटनास्थल से उठाया गया। बुधवार दोपहर को शव का पोस्टमार्टम हुआ। फिर अंतिम संस्कार किया गया।

खेत में भैंस चराने गई गीता देवी के गहने लूटने के लिए दोनों पैर व गला काटा
आपको बता दें कि चावंडिया खतेहपुरा की रहने वाली गीता शर्मा मंगलवार सुबह 10 बजे खेत पर भैंस चराने गई थी। दोपहर 1 बजे उनका शव खेत में क्षत विक्षत हालत में नजर आया था। उनके दोनों पैरों को काटकर पंजे अलग कर दिए गए थे। गला भी कुल्हाड़ी से काटा हुआ था।

स्थानीय ग्रामीणों की सूचना पर जमवारामगढ़ पुलिस मौके पर पहुंची। तब पता चला कि गीता देवी के पैरों में पहने हुए चांदी के एक किलो वजनी कड़े, गले में पहने का सोने का जोल्या और कानों में सोने की बालियां गायब थी। ऐसे में पता चला कि गहनों को लूटने के लिए बदमाशों ने गीता देवी की हत्या की। इसके बाद फरार हो गए। वारदात में पेशेवर गैंग का हाथ होने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...