पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यह चैट कर लूट लेती है...:फेक आईडी बनाकर पहले दोस्ती, फिर मिलने के बहाने बुलाती और दोस्तों साथ मिलकर करती थी लूटपाट

जयपुर3 महीने पहले
जयपुर में हरमाड़ा थाना पुलिस की गिरफ्त में आए गैंग के सदस्य ज्योति कुमावत, जूनियर कुमावत और राहुल बैरवा।
  • हरमाड़ा थाना पुलिस ने किया गैंग में शामिल लड़की और उसके दोनों साथियों को गिरफ्तार

सोशल मीडिया (Blued app) पर एक लड़की फेक आईडी बनाई। उस आईडी पर चैटिंग के बहाने युवकों को फंसाती थी। फिर मिलने बुलाती और उसके बाद मारपीट कर लूटपाट करती थी। गिरोह जयपुर में पकड़ा गया। गैंग में शामिल एक युवती और उसके दो साथियों को हरमाड़ा थाना पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। उनको रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। उनके कब्जे से लूटी गई नकदी और अन्य सामान भी बरामद कर लिया है।

डीसीपी (पश्चिम) प्रदीप मोहन शर्मा ने बताया कि जयपुर निवासी दीपक गोस्वामी ने 29 मार्च को हरमाड़ा थाने पहुंचकर एक रिपोर्ट दर्ज करवाई। इसमें बताया कि 28 मार्च को उसके मोबाइल फोन पर Blued app के जरिए नीतू शर्मा नाम की लड़की की आईडी से मैसेज आया। उसने रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली। तब दीपक और युवती के खिलाफ पूरे दिन चैटिंग हुई। इसमें युवती ने दीपक को फंसाकर उसे रोड नंबर 14, सीकर रोड पर मिलने के बहाने बुलाया।

बातों में फंसाकर खुद को नीतू की बहन बताया, फिर दूसरी जगह ले जाकर लूटा

हरमाड़ा थानाप्रभारी चैनाराम बेड़ा ने बताया कि युवती की बातों में आकर वह 29 मार्च को सीकर रोड पर 14 नंबर पुलिया पहुंच गया। वहां एक लड़का मिला। उसने बताया कि नीतू उसकी मुंहबोली बहन है। वह उसे मिलने के लिए न्यू ट्रांसपोर्ट नगर बुला रही है। तब पीड़ित दीपक गोस्वामी को वहां ले गए। जहां एक लड़की मिली। उसने खुद को ज्योति कुमावत होना बताया।

पीड़ित दीपक कुछ समझ पाता। इसके पहले ही ज्योति कुमावत ने आवाज देकर गैंग के साथी राहुल बैरवा व जूनियर कुमावत को बुलाया। वे दोनों लड़के लकड़ियां लेकर आए। इसके बाद पहले ज्योति ने दीपक गोस्वामी को थप्पड़ मारा और कहा कि मोबाइल और पैसे निकाल। इसके बाद तीनों ने मिलकर दीपक से मारपीट शुरू कर दी, फिर उसके दो मोबाइल फोन तथा करीब 2 हजार रुपए जेब में से निकालकर छीन लिए और घटनास्थल से फरार हो गए।

सीसीटीवी फुटेज खंगाली, तकनीकी सेल की मदद से आरोपियों तक पहुंची पुलिस

प्रोबेशनर आरपीएस आदित्य पूनियां के सुपरविजन में पुलिस टीम ने गैंग की तलाश करने के लिए घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। तकनीकी सेल की मदद से मोबाइल नंबर और अन्य डिटेल्स लेकर कुछ घंटों में ही गैंग को नामजद कर लिया। इसके बाद तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। उनसे लूटा गए मोबाइल फोन व नकदी बरामद कर ली।

इस तरह फेक आईडी से करते हैं वारदात

एसीपी आदित्य पूनियां ने बताया कि ज्योति कुमावत ने मोबाइल ऐप पर नीतू शर्मा के नाम से अपनी आईडी बना रखी है। वह इस मोबाइल एप को इस्तेमाल करने वाले लोगों से चैटिंग करती है। फिर उनको प्यार मोहब्बत की बातों में उलझाकर दोस्ती के बहाने झांसे में लेती है। उनको मिलने के बहाने बुलाकर सुनसान जगह पर ले जाकर अपनी गैंग के दोनों साथियों के साथ मारपीट करती है और सामान छीनकर भाग जाती है।

ये है गैंग में शामिल गिरफ्तार आरोपी

  1. ज्योति देवी उर्फ नीतू कुमावत (28) पत्नी नाथूराम निवासी रींगस जिला सीकर है। जयपुर में रोड नम्बर 14, सीकर रोड थाना विश्वकर्मा इलाके में रहती है।
  2. जूनियर कुमावत (21) निवासी रामबाग की ढ़ाणी, वार्ड नम्बर 1, नींदड़ थाना हरमाड़ा जयपुर
  3. राहुल बैरवा (20) निवासी गांव बटावती, करवर जिला बूंदी हाल किरायेदार जोड़ला हरमाड़ा जयपुर
खबरें और भी हैं...