पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दानियों का राजस्थान:6 सालों में सिर्फ 39 कैडेवर ट्रांसप्लांट, हार्ट के लिए 15000 मरीज कतार में

जयपुर11 दिन पहलेलेखक: संदीप शर्मा
  • कॉपी लिंक
  • फिर भी हम अंगदान में पीछे क्यों
  • भास्कर अपील ;1 ब्रेनडेड 9 जिंदगियां बचा सकता है आगे आएं, जिंदगी बचाएं

मकर संक्रांति यानी दान का महापर्व। अंग दान कर दूसरे की जिंदगी बचाना सबसे बड़ा दान है। हालांकि भारत में अभी अंगदान सिर्फ 0.8 फीसदी हो रहा है। इसमें भी तमिलनाडु सबसे आगे है। हमारे राजस्थान में 5-6 सालों में सिर्फ 39 ऐसे दानवीर हुए हैं जिन्होंने अपना अंग दान कर दूसरों की जिंदगी बचाई है।

राजस्थान में किडनी के एक लाख से अधिक, लिवर के 20 हजार और हार्ट के 10000 लोग गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। इन सबकी जिंदगी बचाने का एक ही रास्ता है आर्गन ट्रांसप्लांट। कोरोना की वजह से 2020 में अंगदान काफी कम हुआ। अब उम्मीद है 2021 में कोरोना खत्म होगा और अंगदान के लिए लोग आए आएंगे।

जिंदगी बचाना सबसे बड़ा पुण्य, 3 मामलों से समझिए कि कितना जरूरी है अंगदान

1. संक्रमित खून से सैन्य अफसर का लिवर खराब
यह केस है सेना के जांबाज रतन सेन का। शौर्य चक्र विजेता रतन बताते हैं...साल 1994 में मैं अनंतनाग में तैनात था। तभी आतंकियों ने हमला कर दिया। मुझे खून चढ़ाया गया था। साल-दर साल बीतता रहा। 2011 में एक दिन मैं बीमार पड़ा। जांच में संक्रामक खून चढ़ने से आया कि मेरा लिवर पूरी तरह खराब हो चुका है। अब एक ही रास्ता है लिवर का ट्रांसप्लांट हो। उम्मीद कोई महादानी जरूर आएगा।

2. जिंदगी डायलिसिस पर है पांच साल से

पांच साल से डायलिसिस करा रहे जतिन आज भी उम्मीदों का लौ जलाए हुए हैं कि कभी कोई दानदाता आएगा और मुझे किडनी मिल सकेगी। जतिन की मां को हर दिन किडनी ट्रांसप्लांट के लिए हर दिन एसएमएस से कॉल का इंतजार रहता है। जतिन का मां कहती हैं...राजस्थान तो दानियों के नाम से ही जाना जाता है। कोई महादानी एक दिन जरूर मेरे बच्चे के लिए फरिश्ता बनकर आएगा। फिर हम भी मकर संक्रांति मनाएंगे।

3. उस फरिश्ते का इंतजार जो मुझे नई जिंदगी देगा
ये हैं मालपुरा (टोंक) निवासी विष्णु। महादानियों से उम्मीद लिए विष्णु बताते हैं कि छह महीने से असहनीय दर्द से गुजर रहा हूं। हर हफ्ते डायलिसिस होती है और हर डायलििसस पर दो हजार रुपए खर्च होते हैं। अब तो मेरे पास ना तो पैसे हैं और ना ही हिम्मत...। एक उम्मीद बची है अंगदान करने वालों से। रजिस्ट्रेशन करा रखा है। उम्मीद है कोई तो मेरे लिए ईश्वर बनकर आएगा और इस नए साल में मेरी किडनी ट्रांसप्लांट हो जाएगी।

^ इस दान की तुलना अन्य किसी से नहीं की जा सकती। हां, कोरोना की वजह से प्रोग्राम में कमी आई लेकिन टीम लगातार काम कर रही है और कोरोना काल में भी कई अंगों का दान हुआ है। बेहतर बात यह है कि पिछले पांच वर्षों की तुलना में लोगों में एप्रोच बढ़ी है और अंगदान में भी तेजी आई है। उम्मीद है कि आने वाले दिनों में इसमें और बढ़ोतरी होगी और जिन लोगों को जरूरत है, उसकी पूर्ति होगी।
-डॉ. अमरजीत मेहता, ज्वाइंट डायरेक्टर, डॉ. मनीष शर्मा, कंसल्टेंट, सोटो।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser