पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कंट्रोवर्सी:बीसलपुर में अब केवल ‘पेयजल’, सिंचाई के पानी की मांग पर अड़े किसान

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिंचाई के लिए पानी छोड़ा तो गर्मियों में जयपुर, अजमेर, टोंक सहित 20 शहरों व 2900 गांवों में हो सकता है पेयजल संकट

जयपुर, अजमेर, टोंक के शहरों व गांवों की पेयजल लाइफलाइन बीसलपुर बांध को लेकर एक बार फिर जलदाय विभाग व किसान आमने सामने हो गए है। बांध में इन शहरों को अगले 10 महीने तक पानी पिलाने का पानी है, वहीं कमांड एरिया के किसान बांध से रबी फसल की सिंचाई के लिए पानी देने पर अड़े हुए है तथा आंदोलन कर रहे है। जलदाय विभाग और जल संसाधन विभाग इस मामले पर अभी तक कोई निर्णय नहीं ले पा रहे है।

ऐसे में इस मामले पर अंतिम फैसला सरकार या कलेक्टर की अध्यक्षता वाली जल वितरण समिति को करना है। जिसमें सांसद, विधायक सहित अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ ही किसान भी सदस्य है। माना जा रहा है कि बीसलपुर बांध से सिंचाई के लिए भी पानी दिया तो जयपुर, अजमेर, टोंक सहित 4 जिलों के 20 शहर व 2900 गांवों की 90 लाख आबादी के लिए आगामी गर्मियों में पेयजल संकट हो सकता है।

इस बारे में जलदाय विभाग के प्रमुख सचिव राजेश यादव व एडिशनल चीफ इंजीनियर देवराज सोलंकी ने कोई जवाब नहीं दिया। वहीं जलसंसाधन विभाग के प्रमुख सचिव नवीन महाजन का कहना है कि बांध का पानी सिंचाई के लिए छोड़ने का निर्णय कलेक्टर की अध्यक्षता वाली कमेटी को करना है।

यह है समझौता

बीसलपुर बांध का निर्माण पेयजल जरूरत पूरी करने के लिए किया गया था, लेकिन जयपुर शहर को बांध से जोड़ने की प्लानिंग में करीब एक दशक लग गया। बांध पर कंट्रोल जल संसाधन विभाग का है, लेकिन बांध की प्राथमिकता पेयजल सप्लाई करने की है। बांध का जल स्तर 315.50 आरएल मीटर होने पर क्षमता 38.70 टीएमसी है।

कीचड़ व गाद के कारण बांध में 33.15 टीएमसी पानी का ही उपयोग किया जा सकता है। इसमें से 16.2 टीएमसी पानी पेयजल के लिए आवंटित है तथा 8 टीएमसी पानी सिंचाई को दिया जाना है। वहीं करीब 8.95 टीएमसी पानी वाष्पीकरण व छीजत में चला जाता है। वर्तमान में बांध का जल स्तर 313.20 आरएल मीटर है तथा बांध में 23.42 टीएमसी पानी है।

किसानों की दलील : जलदाय विभाग के पास सिस्टम ही नहीं
किसानों की दलील है कि बांध में पेयजल के लिए 16.2 टीएमसी आवंटित है। लेकिन जलदाय विभाग के पास वर्तमान सिस्टम 12 टीएमसी पानी लेना का ही है। जब जलदाय विभाग के पास आवंटित पानी का उपयोग करने के लिए पूरा सिस्टम ही नहीं है तो फिर फसलों के लिए पानी छोड़ा जाना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें