विरोध:पीएचईडी में चीफ इंजीनियर के प्रमोशन में एससी वर्ग की अनदेखी का विरोध

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जलदाय विभाग में चीफ इंजीनियर पद पर प्रमोशन में अनुसूचित जाति (एससी) वर्ग की अनदेखी को लेकर जनप्रतिनिधियों के साथ ही इस वर्ग से जुड़े अधिकारी-कर्मचारी संगठन भी लामबंद हो गए है। डॉ. अंबेडकर अनुसूचित जाति अधिकारी-कर्मचारी एसोसिएशन (अजाक) संगठन ने इस बारे में मुख्यमंत्री से दखल देने की मांग की है तथा चीफ इंजीनियर की डीपीसी रिवाइज कर एससी वर्ग के इंजीनियरों को प्रमोशन देने की बात कही है।

अन्यथा जनता में सरकार के एससी वर्ग विरोधी होने का संदेश जाएगा। विभाग में भर्ती के दौरान सीनियर होने के बावजूद एडिशनल चीफ इंजीनियर देवराज सोलंकी को चीफ इंजीनियर नहीं बनाया। जबकि उनके बाद आए दो एसीई को सीई पद पर प्रमोशन दे दिया। जो कि संविधान के अनुच्छेद 14 व 16 और कार्मिक विभाग की अधिसूचना सितंबर 2011 के स्पष्टीकरण का सीधा उल्लंघन है। पहले भी एससी वर्ग के विधायकों ने भी प्रमोशन में हो रहे भेदभाव को गलत ठहराते हुए जलदाय मंत्री से दखल की मांग की थी, लेकिन इसके बावजूद विभाग ने प्रमोशन सूची जारी कर दी।

इससे विभाग के इंजीनियरों में मतभेद बढ़ गए है। संगठन प्रमोशन में हुई गड़बड़ी से संबंधित दस्तावेज भी मुख्यमंत्री को सौंपेंगे तथा विभाग मेंं एससी वर्ग के इंजीनियरों के साथ हो रहे अन्याय के मुद्दा उठाएंगे।

खबरें और भी हैं...