आदेश कायम:जीआरपी एसएचओ के खिलाफ दायर परिवाद खारिज करने का आदेश कायम

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर मेट्रो-प्रथम की एडीजे कोर्ट-5 ने जीआरपी के तत्कालीन एसएचओ सुरेन्द्र सिंह सहित अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ दायर परिवाद खारिज करने वाले एसीएमएम रेलवे कोर्ट के 24 अप्रैल 2017 के आदेश को बरकरार रखा है। वहीं कोर्ट ने इस आदेश को चुनौती देने वाली शंकर साव की रिवीजन याचिका खारिज कर दी। एडीजे कोर्ट ने कहा कि निचली कोर्ट ने पत्रावली के साक्ष्यों पर आदेश दिया है और प्रार्थी ने जिन बिन्दुओं को रिवीजन में उठाया है वे मेरिट पर नहीं हैं।

वहीं एसएचओ के अधिवक्ता दीपक चौहान ने कोर्ट में दलील दी कि निचली कोर्ट का परिवाद खारिज करने का आदेश सही था। इसलिए प्रार्थी की रिवीजन याचिका खारिज की जाए। मामले के अनुसार, परिवादी ने जीआरपी एसएचओ सुरेन्द्र सिंह सहित पुलिसकर्मी रामसिंह, धर्मेंद्र सिंह, बालूराम सिंह व अन्य के खिलाफ आईपीसी की धाराओं के उल्लंघन मामले में निचली कोर्ट में परिवाद दायर कर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने आग्रह किया था। निचली कोर्ट ने 21 दिसंबर 2016 को एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया। इस दौरान ही निचली कोर्ट ने 26 अप्रैल 2017 को प्रार्थी का परिवाद खारिज कर दिया।

खबरें और भी हैं...