सख्ती:ओवरलोड ट्रक जुर्माना देने के बाद ही निकल सकेंगे

जयपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

हाइवे पर लगे टोल नाका से अब ओवरलोड ट्रकों का गुजरना आसान नहीं होगा। ये ओवरलोड ट्रक टोल पर जैसे दुगुनी राशि देते हैं, उसी प्रकार ओवरलोड जुर्माना देने के बाद ही अब टोल से निकल सकेंगे। इसके लिए हर टोल प्लाजा पर 24 घंटे आरटीओ उड़न दस्ता तैनात होंगे।

इसमें एक व्यक्ति टोल के कंट्रोल रूम में वायरलेस के साथ रहेगा, जो टोल पर आने वाले हर ओवरलोड ट्रक की जानकारी संबंधित उड़न दस्ते को वायरलेस के जरिए देगा। इस वाहन को लेन से साइड में लेकर टोल की कांटा पर्ची के तहत जुर्माना वसूला जाएगा। यह जानकारी परिवहन शासन सचिव एवं आयुक्त रवि जैन ने मंगलवार को दी। वहीं एक्सल उठे ट्रकों पर भी मौके पर ही कार्रवाई की जाएगी।   जैने ओवरलोड वाहनों की जानकारी लेने मंगलवार को अचानक जयपुर आगरा हाइवे पर जा पहुंचे। इस दौरान उन्हें कई जगह ओवरलोड वाहन मिले। रास्ते में आरटीओ उड़न दस्ता भी नहीं मिले। इस पर जैन ने नाराजगी जाहिर की। बस्सी टोल पर पर जैन को 10 लेनों में कांटा लगे मिले। यहां क्षमता से अधिक वजन पर होने पर दुगुना टोल वसूला जाता है।

इस पर जैन ने आरटीओ उड़न दस्ता पर सवाल उठाते हुए कहा कि टोल कंपनियों जुर्माना वसूल सकती है तो आरटीओ उड़न दस्ते क्यों नहीं वसूल रहे ? बस्सी टोल का जैन ने करीब 1 घंटे तक निरीक्षण किया। इस दौरान निकलने वाले ट्रकों में से 25 ट्रक ओवरलोड मिले। मौके पर उड़न दस्ता होता तो इन ओवरलोड ट्रकों से विभाग को जुर्माना के तहत 5 लाख से अधिक का राजस्व आता।

खबरें और भी हैं...