पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बड़े निजी अस्पतालों ने कहा:ऑक्सीजन खत्म हाेने वाली है, नए मरीजों को भर्ती नहीं कर सकेंगे

जयपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर, शहर में मरीजाें का आंकड़ा दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रही है, वहीं व्यवस्थाएं पटरी पर आने की बजाय बे-पटरी हाेती जा रही है। रविवार काे भी शहर के ज्यादातर बड़े निजी अस्पतालाें में ऑक्सीजन और बेड की किल्लत रही। अधिकांश बड़े हॉस्पिटलों ने नए मरीजों को भर्ती करने से इनकार कर दिया है। इसके बाद अस्पतालों में अफरा-तफरी मच गई और परिजन इधर-उधर दाैड़ने लगे।

इसके अलावा सबसे बड़े सरकारी अस्पताल एसएमएएस में मरीजाें काे ऑक्सीजन बेड उपलब्ध नहीं हाेने के चलते भर्ती करने से मना कर दिया, रात आठ बजे बाद यहां मरीजाें काे भर्ती करने से इनकार कर दिया। इसके अलावा संताेकबा दुर्लभजी, ईएसएचसी, नारायणा और खाे-नागाेरियन स्थित जेएनयू में भी मरीज भर्ती नहीं किए गए। तड़पते-बिलखते मरीज और उनके परिजन इलाज के लिए अस्पताल दर अस्पताल भटकते नजर आए, लेकिन कहीं भी इलाज नहीं मिला। गाैरतलब है कि शनिवार काे भी एसएमएस अस्पताल में 25 वर्षीय युवती ने इलाज नहीं मिलने के चलते अस्पताल के बाहर गेट पर दम ताेड़ दिया था।

एक्टिव मरीज 42 हजार पार, 7 हजार अस्पतालाें में भर्ती
शहर में रविवार काे अब तक सबसे ज्यादा 4456 पाॅजिटिव केस मिलने के बाद एक्टिव मरीजाें की संख्या बढ़कर 42756 पहुंच गई, जबकि रिकवर केवल 1490 हुए। कुल एक्टिव मरीजाें में से करीब 6-7 हजार मरीज अस्पतालाें में भर्ती है जबकि 80 से 90 फीसदी मरीज घराें में आइसोलेट है। लगातार बढ़ते आंकड़ाें के बीच यदि जल्द व्यवस्थाओं काे सुचारू नहीं किया गया ताे माैताें का विस्फाेट हाे सकता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें