जोधपुर दंगा: पुलिस पर मारे पत्थर का सच:लोग बोले झूठे फोटो-वीडियो, हकीकत; पत्थर लगते ही बेहोश हो गया ASI

जयपुर5 महीने पहले

जोधपुर का सांप्रदायिक दंगे को 4 दिन हो चुके हैं। शहर में अब भी कर्फ्यू लगा है। माहौल शांत है, पुलिस चप्पे-चप्पे पर तैनात है। इस बीच समुदाय विशेष के लोग एक ASI के फोटो और वीडियो शेयर कर यह बता रहे हैं कि जोधपुर पुलिस झूठ बोल रही है। इसमें ASI सिर में खून से सना रुमाल बांधते हुए नजर आ रहे हैं। जब बताया गया कि दंगे में किसी ने पत्थर सिर पर मार दिया तो समुदाय विशेष के लोग इस फोटो और वीडियो को झूठा बता रहे हैं।

दैनिक भास्कर ने जब इसकी पड़ताल की और ASI से बातचीत की तो हकीकत सामने आई।

पत्थर लगने के बाद धन्नाराम एक बार अचेत हो गए। थोड़ी देर के लिए मोर्चा संभालने के बाद वे हॉस्पिटल पहुंचे।
पत्थर लगने के बाद धन्नाराम एक बार अचेत हो गए। थोड़ी देर के लिए मोर्चा संभालने के बाद वे हॉस्पिटल पहुंचे।

कुड़ी थाने में तैनात ASI धन्नाराम ने बताया कि सोमवार रात माहौल बिगड़ गया था। मंगलवार को एहतियात के तौर पर जालोरी गेट चौराहे पर पुलिस जाब्ता तैनात किया गया था। इसमें मेरी भी ड्यूटी लगाई गई थी। इस बीच अचानक पुलिस पर पथराव होने लगा। एक पत्थर आकर सीधा मेरे सिर पर लगा। उन्होंने बताया कि अब कुछ लोग इसे फेक बता रहे हैं। उन्होंने बताया कि यह वीडियो तब बनाया गया जब वे सिर में लगी चोट को रुमाल से साफ कर चुके थे।

3 मई को हुए दंगे में ASI धन्नाराम को सिर में पत्थर लगा। इसके बाद वे घायल हो गए।
3 मई को हुए दंगे में ASI धन्नाराम को सिर में पत्थर लगा। इसके बाद वे घायल हो गए।

पत्थर के वार से टोपी में छेद हो गया, चक्कर आने लगे
धन्नाराम की उम्र 58 साल की है। घटना का जिक्र करते हुए बताया कि पत्थर टोपी को चीरते हुए सीधे सिर पर लगा। पत्थर लगते ही चक्कर आने लगे। आंखों के सामने अंधेरा छा गया। एक बार के लिए अचेत हो गया। बस के पीछे गया। सिर से खून निकलने लगा। रुमाल से खून साफ कर दिया था। दंगा भड़कता जा रहा था। इसलिए दोबारा मोर्चा संभाला। सिर दर्द होने लगा तो खून से सना रुमाल सिर पर बांध लिया। तब तक कई मीडियाकर्मी आ गए। उन्होंने रुमाल को सिर में बांधते हुए वीडियो बना लिया था। वे पहले चौकी में ही तैनात थे। कुछ देर के बाद चक्कर आने पर वे चौकी की ओर चले गए। वहां पर सिर में पट्‌टी बंधवा कर दवाई ली।

तबाही के लिए करौली में नवसंवत्सर, जोधपुर में ईद-आखातीज:दोनों शहरों में दंगों का कनेक्शन, जानिए पुलिस ने क्या गलतियां दोहराईं

मुकदमा दर्ज कराया
धन्नाराम बोले- सिर में लगी चोट के वीडियो को फेक बताकर पुलिस की छवि को खराब कर रहे हैं। सरदारपुरा थाने में खुद की छवि और राजस्थान पुलिस की साख खराब करने पर मुकदमा दर्ज कराया।

झूठे फोटो-वीडियो शेयर करने के बाद जोधपुर कमिश्नरेट ने भी इसका खंडन किया। वहीं ASI की ओर से सरदारपुरा थाने में मामला दर्ज करवाया गया।
झूठे फोटो-वीडियो शेयर करने के बाद जोधपुर कमिश्नरेट ने भी इसका खंडन किया। वहीं ASI की ओर से सरदारपुरा थाने में मामला दर्ज करवाया गया।

ये खबरें भी पढ़ें...