पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • People Thronged The Rooftops, The City Buzzed With The Noise Of DJ And The Sound Of Kata, People Worshiped Thakur Ji By Doing Charity.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पिंक सिटी में मकर संक्रांति:डीजे की धुन और पतंगबाजों के शोर से गूंजा जयपुर, शाम होते ही आतिशबाजी और लालटेन से जगमगाया आसमान

जयपुर2 दिन पहले
आज मकर संक्रांति के मौके पर पूरे दिन पतंगबाजी के बाद देर शाम जयपुर में जमकर आतिशबाजी हुई। पूरे शहर में जश्न का माहौल नजर आया।

गुरुवार को सूरज उगने से पहले डीजे पर बज रहे गानों और वो काटा...के शोर आखिर देर शाम सूरज ढलने के साथ थम गया। अंधेरा होने के साथ ही आसमान में जुगनू की तरह टिमटिमाती लालटेन और आतिशबाजी राजधानी का पूरा आसमान जगमग दिखने लगा। दीपावली पर जो आतिशबाजी न कर पाने की कसक जयपुरवासियों में रह गई थी वह आज संक्रांति पर पूरी कर ली।

दिनभर चली पतंगबाजी और शाम को हुई आतिशबाजी ने दिखा दिया कि जयपुर के लोगों में त्यौहार के प्रति कितना जुनून। कोरोना महामारी ने दीपावली, ईद, दशहरा और क्रिसमस जैसे पर्व का उत्साह फीका कर दिया था। लेकिन, साल 2021 के पहले पर्व मकर संक्रांति को जिस उत्साह, उमंग और जोश के साथ लोगों ने मनाया उसे देख यह तय है कि आने वाला वक्त फिर पहले जैसा होगा।

पिंजरापोल गोशाला प्रताप नगर में गायों को चारा खिलाने पहुंचे लोग।
पिंजरापोल गोशाला प्रताप नगर में गायों को चारा खिलाने पहुंचे लोग।

देर रात तक डीजे की धुनों पर थिरके लोग
पतंगबाजी और आतिशबाजी के बाद भी लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ। देर शाम तक कई लोग छतों पर ही रहे और डीजे पर पंजाबी, राजस्थानी गानों पर नाचते-झूमते दिखे। सुबह के नाश्ते से लेकर रात का डिनर तक छत पर हुआ। वहीं मित्रों, परिवार के लोगों का आना-जाना भी पूरे दिन लगा रहा। इससे पहले दिनभर लोगों ने जमकर पतंगबाजी की। चारदीवारी में बाजार, मुख्य रोड दिनभर सूने रहे और पूरा शहर छतों पर उमड़ा रहा। दिनभर पतंगों के अलावा लोगों ने गुब्बारे भी खूब उड़ाए।

बच्चों के लिए सड़कों पर गुब्बारे का बाजार सजा।
बच्चों के लिए सड़कों पर गुब्बारे का बाजार सजा।
जयपुर में आज सुबह हल्के बादल छाए रहे। इस बीच भी लोगों का पतंगबाजी को लेकर जुनून कम नहीं हुआ।
जयपुर में आज सुबह हल्के बादल छाए रहे। इस बीच भी लोगों का पतंगबाजी को लेकर जुनून कम नहीं हुआ।
जयपुर में आज सुबह सूरज उगने के साथ ही एक अनूठा ही नजारा देखने को मिला। पूरा आसमान केसरिया रंग में रंगा नजर आया।
जयपुर में आज सुबह सूरज उगने के साथ ही एक अनूठा ही नजारा देखने को मिला। पूरा आसमान केसरिया रंग में रंगा नजर आया।

हवा ने मजा किया किरकिरा, दोपहर बाद तेज हुई तो होने लगी पतंगबाजी

​​​​​​मौसम विभाग ने बुधवार को जो भविष्यवाणी की थी वह इस बार फेल साबित हुई। सुबह मौसम साफ रहने के बजाय बदलों से अटा रहा। हवा भी बहुत धीमी चली, जो सुबह 9 बजे के आस-पास बहुत भी कम हो गई। लोगों को पतंग लंबी करने में भी पसीने छूटने लगे। इधर जैसे-जैसे मौसम खुलता गया, सूरज की तपिश भी तेज होने लगी। एक समय दोपहर करीब 12 बजे ऐसा आया जब लोग धूप और हवा नहीं चलने से परेशान होकर छतों से उतर आए। हालांकि इस बीच कुछ लोग पतंग लम्बी करने के लिए संघर्ष करते रहे। दोपहर करीब 1 बजे से वापस हवा चली तो लोगों के उत्साहित हुए और फिर से छतों पर आकर पतंगबाजी करने लगे। इस बार बच्चों संग बड़े और महिलाएं भी छतों पर पहुंच गई।

आराध्यदेव गोविंद देव जी मंदिर में ठाकुर जी चांदी की पतंग उड़ाते हुए और राधारानी उनकी चरखी पकड़े हुए।
आराध्यदेव गोविंद देव जी मंदिर में ठाकुर जी चांदी की पतंग उड़ाते हुए और राधारानी उनकी चरखी पकड़े हुए।

ठाकुर जी ने उड़ाई चांदी की पतंग, राधे माता ने पकड़ी चरखी

मकर संक्रांति के मौके पर आज पूरे दिन शहर के मंदिरों में भी अच्छी खासी भीड़ रही। श्रद्धालु सुबह से मंदिरों आते-जाते रहे और भगवान की पूजा-अर्चना की। शहर के आराध्यदेव गोविंददेव जी मंदिर में लोगों ने ठाकुर जी के ढोक लगाई और सुख-समृद्धि की कामना की। इधर ठाकुर जी ने भी आज चांदी की पतंग उड़ाई और माता राधा ने उनकी चरखी पकड़ी। इस मौके पर ठाकुर जी का विशेष श्रृंगार किया गया और उन्हे तिल के लड्‌डू, गजक, रेवड़ी, फीणी का भोग लगाया। वहीं दूसरी ओर आज पूरे दिन लोग दानपुण्य में भी लगे रहे। गौशालाओं में जाकर लोगों ने गायों को गुड़, हरा चारा खिलाया।

जयपुर में सूरज ढलने के साथ ही लोग लालटेन उड़ाने में जुट गए। मालवीय नगर इलाके में लालटेन उड़ाते लोग।
जयपुर में सूरज ढलने के साथ ही लोग लालटेन उड़ाने में जुट गए। मालवीय नगर इलाके में लालटेन उड़ाते लोग।

देर रात तक हुई पतंग-डोर की बिक्री

संक्रांति से एक दिन पहले दिन पहले की बात करें तो मंगलवार को पहली बार प्रशासन त्यौहार के प्रति थोड़ा नरम दिखा। पतंगों की दुकानें नाइट कर्फ्यू के बाद भी मंगलवार देर रात तक खुली और लोगों ने खरीददारी की। टोंक रोड, चारदीवारी, वैशाली नगर, मानसरोवर, गोपालपुरा सहित अन्य कई बाजारों में पतंग-डोर की दुकानों को छोड़कर शेष दुकानें बंद रही। त्यौहार को देखते हुए स्थानीय पुलिस ने भी इस मामले में सख्ती के बजाय नरमी दिखाई।

पिंजरापोल गोशाला में लगी लोगों की भीड़।
पिंजरापोल गोशाला में लगी लोगों की भीड़।

आज से बदली सूर्य की चाल, बना पंचग्रही योग
सूर्य आज मकर राशि में प्रवेश कर गया। इसके साथ ही सूरज की चाल भी दक्षिण से उत्तर दिशा की ओर से हो गई। आज से सर्दी का प्रभाव भी धीरे-धीरे कम होने लगेगा। इस बार मकर राशि में पंचग्रही योग बनेगा, जो करीब 59 साल बाद ऐसा योग बनेगा। मकर संक्रांति का पुण्यकाल सुबह 7.31 से शुरू हो गया जो शाम 5.50 बजे तक रहेगा।

जयपुर के चारदीवारी में ब्रह्मपुरी इलाके में पतंग उड़ाते बच्चे।
जयपुर के चारदीवारी में ब्रह्मपुरी इलाके में पतंग उड़ाते बच्चे।

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, मकर राशि में बुधवार को चन्द्रमा प्रवेश कर गए हैं। आज सुबह 8.15 मिनट पर सूर्य भी मकर राशि में प्रवेश कर गए। इससे पहले मकर राशि में बुध, गुरु और शनि पहले से ही चल रहे हैं। इस तरह मकर राशि में पंचग्रही योग बनेगा। इसी के साथ आज का दिन दान पुण्य के लिहाज से भी अहम हैं। लोगों ने आज दिनभर बेघर लोगों को भी खाने-पीने की चीजे, कपड़े आदि दान किए।

जयपुर चारदीवारी में पतंगबाजी के दौरान महिलाएं भी पीछे नहीं रही।
जयपुर चारदीवारी में पतंगबाजी के दौरान महिलाएं भी पीछे नहीं रही।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser