पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Photos Of Vasundhara Raje Missing From Posters Of Nomination Rallies Released From BJP's Social Media Account, Raje Not Even Included In Nomination Meetings

उपचुनावों में उभरी भाजपा की गुटबाजी:भाजपा के सोशल मीडिया अकाउंट से जारी नामांकन रैलियों के पोस्टर्स से वसुंधरा राजे के फोटो गायब, नामांकन सभाओं में भी राजे नहीं

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उपचुनाव वाली तीनों सीटों पर उम्मीदवारों की नामांकन रैलियों के लिए प्रदेश भाजपा के ऑनलाइन पोस्टर्स से वसुंधरा राजे के फोटो नदारद - Dainik Bhaskar
उपचुनाव वाली तीनों सीटों पर उम्मीदवारों की नामांकन रैलियों के लिए प्रदेश भाजपा के ऑनलाइन पोस्टर्स से वसुंधरा राजे के फोटो नदारद
  • वसुंधरा राजे को नामांकन रैलियों में बुलाना तो दूर पोस्टरों में भी जगह नहीं दी

राजस्थान की तीन सीटों पर उपचुनाव के लिए मंगलवार को भाजपा के उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल कर दिए लेकिन इस दौरान भाजपा की गुटबाजी भी खुलकर सामने आ गई । प्रदेश भाजपा की तरफ से सहाड़ा, राजसमंद और सुजानगढ़ की नामांकन सभाओं के पोस्टर्स में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के फोटो ही नहीं लगाए। राजसमंद से भाजपा उम्मीदवार ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर डाले गए पोस्ट में वसुंधरा राजे का फोटो लगाया है। तीनों सीटों पर हुई नामांकन रैलियों-सभाओं में राजे शामिल नहीं हुईं। इस तरह सभाओं से तो राजे दूर रहीं हीं उन्हें बैनर पोस्टर्स में भी जगह नहीं दी गई।

प्रदेश भाजपा के सोशल मीडिया अकाउंट से सुजानगढ़, सहाड़ा और राजसमंद सीटों पर पार्टी के उम्मीदवारों की नामांकन रैलियों और सभाओं के बारे में पोस्टर जारी किए गए । इन पोस्टरों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, भाजपा प्रदेशाध्श्क्ष सतीश पूनिया, प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ और स्थानीय सांसद का फोटो हैं, लेकिन तीनों में से एक भी पोस्टर में वसुंधरा राजे का फोटो नहीं है।

भाजपा उपचुनाव में वसुंधरा के चेहरे का इस्तेमाल नहीं चाहती
तीन उम्मीदवारों के नामांकन से पहले प्रदेश भाजपा के आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट से जारी नामांकन रैली के पोस्टर्स में वसुंधरा राजे का फोटो नहीं लगाने से पार्टी की गुटबाजी सामने आ गई है। इससे यह भी संदेश जाता है कि प्रदेश भाजपा नेतृत्व वसुंधरा राजे का चेहरा उपचुनावों में काम नहीं लेना चाहता। यह अलग बात है कि तीनों ही जगह के भाजपा उम्मीदवार वसुंधरा राजे से जुड़े रहे हैं। सुजानगढ़ से भाजपा उम्मीदवार खेमाराम मेघवाल राजे के पहले कार्यकाल में खान राज्य मंत्री रहे। सहाड़ा से उम्मीदवार रतनलाल जाट वसुंधरा राजे के पहले कार्यकाल में बीज निगम के अध्यक्ष रहे और दीप्ति माहेश्वरी की मां दिवंगत किरण माहेश्वरी राजे के दूसरे कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री रही हैं।

नामांकन रैलियों में भी वसुंधरा राजे शामिल नहीं
भाजपा उम्मीदवारों ने भी तीनों सीटों पर मंगलवार को नामांकन दाखिल किए। तीनों जगह नामांकन रैलियों में वरिष्ठ नेता गए लेकिन राजे किसी भी नामांकन सभा में शामिल नहीं हुईं। सहाड़ा और राजसमंद की नामांकन रैलियों में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, केंद्रीय जल संसाधन मंत्री गजेंद्र सिंह, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया शामिल हुए। सुजानगढ़ में प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ नामांकन रैली में शामिल हुए।

भाजपा की एकजुटता के दावों पर सवाल
प्रदेश भाजपा के ऑनलाइन पोस्टर्स में वसुंधरा राजे का फोटो नहीं होने से पार्टी में एकजुटता के दावों पर फिर सवाल उठने लगे हैं। फरवरी में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के दौरे के वक्त पार्टी में सब कुछ ठीक करने का दावा किया था, सबको साथ लेकर चलने की बातें हुई थीं। एक बार फिर भाजपा की गुटबाजी एक बार पुराने स्तर पर पहुंच गई है।

कांग्रेस की नामांकन रैलियों में पायलट साथ, भाजपा में राजे दूर

राजनीतिक जानकारों के मुताबिक गुटबाजी और खेमेबंदी कांग्रेस में भी खूब है, लेकिन यहां फर्क देखा जा रहा है। कांग्रेस में सचिन पायलट को नामांकन रैलियों में साथ लिया है, लेकिन भाजपा में वसुंधरा राजे नामांकन रैलियों में नहीं हैं। पायलट को तीनों जगह मंच पर जगह देने के साथ बोलने का मौका दिया गया लेकिन भाजपा में वसुंधरा राजे को पोस्टरों में ही जगह नहीं देने के पीछे सियासी संकेत छिपे दिख रहे हैं।

खबरें और भी हैं...