• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Players Who Brought Glory To India By Winning Medals In Tokyo Paralympics Reached Jaipur, Sports Fans Gathered At The Airport; Sports Minister Chandna Led

राजस्थान के पैरालिंपियंस का वेलकम, इनाम ही इनाम:चारों खिलाड़ियों के खाते में 10 करोड़ रु., नौकरी, शहर में प्लॉट और गांव में 25 बीघा जमीन; जयपुर एयरपोर्ट पर खेल मंत्री ने रिसीव किया

जयपुरएक महीने पहले

टोक्यो पैरालिंपिक में पदक जीत भारत का नाम रोशन करने वाले राजस्थान के खिलाड़ी शुक्रवार दोपहर करीब डेढ़ बजे दिल्ली से जयपुर पहुंचे। इस दौरान बड़ी संख्या में खेल प्रेमियों ने पदक विजेता खिलाड़ियों का एयरपोर्ट पर स्वागत किया। खेल मंत्री अशोक चांदना के साथ विधायक कृष्णा पूनिया समेत खेल विभाग के आला अधिकारी मौजूद रहे। यहां से खिलाड़ी जुलूस के रूप में सवाई मानसिंह स्टेडियम पहुंचे, जहां राज्य सरकार ने खिलाड़ियों को 10 करोड़ रुपए इनाम की राशि दी।

राज्य सरकार द्वारा टोक्यो पैरालिंपिक में गोल्ड मेडल जीतने पर तीन करोड़, सिल्वर मेडल जीतने पर दो करोड़ और ब्रॉन्ज मेडल जीतने पर एक करोड़ रुपए इनाम की राशि दी गई। इसके तहत अवनि लेखरा को गोल्ड और ब्रॉन्ज मेडल जीतने पर 4 करोड़ रुपए, कृष्णा नागर को गोल्ड मेडल जीतने पर 3 करोड़ रुपए, देवेंद्र झांझड़िया को सिल्वर मेडल जीतने पर दो करोड़ रुपए और सुंदर गुर्जर को ब्रॉन्ज मेडल जीतने पर एक करोड़ रुपए का चेक दिया गया। इसके अलावा, सरकार ने प्रत्येक खिलाड़ी को सरकारी नौकरी, शहरी क्षेत्र में प्लॉट और ग्रामीण इलाके में 25 बीघा कृषि भूमि देने की भी घोषणा की है।

पैरालिंपिक में जीते पदक दिखाते विजेता खिलाड़ी।
पैरालिंपिक में जीते पदक दिखाते विजेता खिलाड़ी।

खेल मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि राजस्थान में सरकार का सिर्फ एक ही लक्ष्य है, खेल और खिलाड़ी दोनों को आगे लाया जाए। इसी उद्देश्य से सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि में इजाफा करने के साथ ही आउट ऑफ द टर्म पॉलिसी बनाकर खिलाड़ियों को नौकरी दी जा रही है। ताकि भविष्य में कभी भी खिलाड़ी को जीवनयापन के लिए परेशानी का सामना न करना पड़े। चांदना ने कहा कि आने वाले वक्त में राजस्थान के खिलाड़ी दुनियाभर में फिर से जीत का परचम लहराएंगे।

टोक्यो पैरालिंपिक में राजस्थान से चार खिलाड़ियों ने 5 पदक जीत कर देश का मान बढ़ाया है। इनमें अवनि लेखरा ने शूटिंग में गोल्ड और ब्रॉन्ज मेडल जीता है। कृष्णा नागर ने SH-6 बैडमिंटन कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता है। देवेंद्र झाझड़िया ने जैवलिन थ्रो में सिल्वर और सुंदर गुर्जर ने जैवलिन थ्रो में ही ब्रॉन्ज मेडल जीता है।

सवाई मानसिंह स्टेडियम में खिलाड़ियों के स्वागत के लिए उमड़ा हुजूम।
सवाई मानसिंह स्टेडियम में खिलाड़ियों के स्वागत के लिए उमड़ा हुजूम।

जयपुर पहुंचने पर अवनी लेखरा ने कहा कि मैं अपना गोल्ड मेडल पूरी कंट्री को डेडिकेट करना चाहती हूं। मैं चाहती हूं कि लड़कियां आगे बढ़ें और खेलों में वो बहुत अच्छा कर सकती हैं। लोगों से कहना चाहूंगी कि बेटियों पर विश्वास करके उन्हें खेलों में भेजें। वो बड़े मुकाम हासिल कर सकती हैं। उन्होंने कहा- आज मैं बहुत खुश हूं। मुझे सभी का सपोर्ट मिला। उन्होंने युवाओं को मैसेज दिया कि मेहनत का कोई दूसरा विकल्प नहीं होता है। कृष्णा नागर, देवेंद्र और सुंदर ने भी सम्मानित होने पर प्रदेश सरकार का आभार जताया। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वक्त में देश और प्रदेश दोनों ही जगह पर खेल के प्रति लोगों की मानसिकता बदली है। इसकी वजह से ओलिंपिक और पैरालिंपिक में खिलाड़ी पहले के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन कर पा रहे हैं।

टोक्यो पैरालिंपिक में छा गई हमारी अवनि

जयपुर के कृष्णा ने रचा इतिहास

अब 3 पदक जीतने वाले देश के एकमात्र खिलाड़ी देवेंद्र

खबरें और भी हैं...