समर्थकों के साथ जयपुर पहुंचे सांसद किरोड़ीलाल:पुलिस ने रोका किरोड़ी का काफिला, तो जयपुर-आगरा हाईवे पर धरने पर बैठे मीणा

जयपुर15 दिन पहले
हजारों समर्थकों के साथ जयपुर पहुँचे सांसद किरोड़ी लाल मीणा।

राजस्थान में प्रतियोगी परीक्षा में हुई धांधली के खिलाफ विधानसभा घेराव के लिए सांसद किरोड़ी लाल अपने हजारों समर्थकों के साथ जयपुर पहुंच गए हैं। मीणा को जयपुर पुलिस ने घाट की गुनी टनल से पहले ही रोक लिया है। जहां मीणा बड़ी संख्या में अपने समर्थकों के साथ जयपुर-आगरा हाईवे पर ही धरने पर बैठ गए है। किरोड़ी ने कहा कि सदन में सरकार ने पेपर लीक प्रकरण की CBI जाँच देने से माना कर दिया। जबकि पेपर लीक मामले में ही सरकार ने अपने जरोली और दूसरे बड़े अधिकारियों को हटाया था।

ऐसे में जब तक पेपर लीक प्रकरण की CBI जांच नहीं दी जाती। तब तक हम यहीं धरने पर बैठे रहेंगे। हालांकि सरकार के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के बाद मीणा ने राष्ट्रीय राजमार्ग को खोल दिया। वहीं प्रदर्शनकारी युवाओं से ही वापस लौटने की अपील की।

मीणा ने कहा कि 16 से ज्यादा भर्ती परीक्षा पेपर लीक कि वजह से रद्द हो चुकी है। जिससे प्रदेश के हजारों युवाओं का भविष्य खतरे में आ गया है। ऐसे में इस पेपर लीक प्रकरण की सिर्फ CBI से जांच होनी चाहिए। क्योंकि नकल प्रकरण में मंत्री, विधायक, अधिकारी और कांग्रेस के पदाधिकारी भी शामिल है।

यहीं कारण है कि CM गहलोत खुद ही अपनी सरकार और राजनेताओं के पेपर लीक प्रकरण में क्लीन चीट दें रहे है। क्यों कि उन्हें भी पता है अगर पेपर लीक प्रकरण कि जाँच CBI ने शुरू की। तो इससे कांग्रेस सरकार की असलियत जनता के सामने आ जाएगी।

मीणा ने कहा कि राजस्थान में बाहर के राज्यों के लोगों को नौकरी दी जा रही है। इससे राजस्थान के युवाओं की नौकरी के अवसर कम हो रहे हैं। बाहरी राज्यों के लोग राजस्थान आकर हमारे युवाओं की नौकरी खा रहे हैं। ऐसे में सरकार को ठोस कानून बनाते हुए। इसे पूरी तरह बंद करना चाहिए।

सांसद किरोडी लाल मीणा को रोकने के लिए घाट की गुनी टनल पर 500 से ज्यादा पुलिस के जवान किए गए तैनात।
सांसद किरोडी लाल मीणा को रोकने के लिए घाट की गुनी टनल पर 500 से ज्यादा पुलिस के जवान किए गए तैनात।

मीणा ने कहा- सुरेश ढाका जयपुर में लंबे समय से कोचिंग चला रहा है। इससे पहले भी भर्ती परीक्षा में हुई धांधली और पेपर लीक के मामलों में उसका संबंध था। रसूख की वजह से पुलिस ने उस पर कोई कार्रवाई नहीं की। इससे उसके हौसले और बुलंद हो गए। इसके बाद उसने अपने साथियों के साथ पूरा नकल गिरोह तैयार कर लिया।

इसमें कई सरकारी कर्मचारी और बेरोजगार युवक शामिल है। जो प्रदेश के नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। ऐसे में जल्द से जल्द सुरेश ढाका की गिरफ्तारी होनी चाहिए। ताकि असली नकल गिरोह का भंडाफोड़ हो सके।

इससे पहले किरोड़ी लाल सैकड़ों की संख्या में गाड़ियों के काफिले के साथ दौसा कलेक्ट्री से रवाना हुए। इस दौरान पूरे हाइवे पर DJ की धुन पर नाचते गाते हुए युवा किरोड़ी लाल के समर्थन में नारेबाजी करते नजर आए।