'दो बूंद जिंदगी की' अभियान की शुरुआत:प्रदेशभर में घर-घर जाकर पिलाई जाएगी पोलियो की दवा, हेल्थ मिनीस्टर बोले- पोलियो मुक्त रहेगा राजस्थान

जयपुरएक वर्ष पहले
पोलियो की दवा पिलाते हेल्थ मिनीस्टर परसादी लाल मीणा।

राजस्थान को पोलियो मुक्त बनाने के लिए आज से एक बार फिर पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत की गई है। इसके तहत प्रदेश में आज 54 हजार 627 पोलियो बूथ स्थापित किए गए हैं। जहां 5 साल से छोटे बच्चों को निशुल्क पोलियो की दवा पिलाई जाएगी। इसके साथ ही 2 हजार 215 ट्रांजिट टीम और 3 हजार 851 मोबाइल टीम भी बनाई गई है। जो अगले 2 दिनों तक घर-घर जाकर छोटे बच्चों के स्वास्थ्य की देखभाल करते हुए उन्हें पोलियो की दवा पिलाएगी।

हेल्थ मिनीस्टर परसादी लाल मीणा ने जयपुर में छोटे बच्चों को पोलियो की दवा पिलाकर आज अभियान की शुरुवात की। उन्होंने बताया कि राज्य में पोलियो का अंतिम मामला नवम्बर 2009 में सामने आया। इसके बाद से अब तक पोलिया का एक भी प्रकरण सामने नहीं आया है। फिर भी पड़ोसी राज्यों में पिछले कुछ सालों में पाए गए पोलियो के केसों को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। उन्होंने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 27 मार्च 2014 को भारत पोलियो मुक्त घोषित कर रखा है। जिसे बरकरा रखने के लिए हमारी टीम पूरी मुस्तैदी के साथ काम कर रही है।
7 मार्च को शुरू होगा मिशन इन्द्रधनुष का दूसरा फेज
मंत्री ने बताया कि मिशन इंद्रधनुष का दूसरा फेज 7 मार्च से आयोजित किया जाएगा। इसमें नियमित टीकाकरण से छूट रहे 2 साल तक के बच्चों और गर्भवती महिलाओं को टीके लगाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इस साल का पहला चरण 7 फरवरी को आयोजित किया था।

खबरें और भी हैं...