पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेलमंत्री करेंगे सभी जीएम और डीआरएम के साथ वर्चुअल बैठक:अगस्त तक अटकी जयपुर सहित 18 मंडलों के डीआरएम की पोस्टिंग, 9 राज्यों को जीएम भी मानसून सत्र के बाद ही मिलेंगे

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

तत्तकालीन रेलमंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे की 8 सर्विस को एक बार फिर मर्ज करने के निर्णय पर जोर दिया था। ऐसे में इसके लागू होने के बाद ही आरडीएसओ लखनऊ सहित 9 जोनल रेलवेज (राज्य) के जीएम और जयपुर सहित 18 मंडलों के डीआरएम के नियुक्ति आदेश जारी होने थे। लेकिन फिलहाल इन सभी की पोस्टिंग में देरी की वजह सर्विस मर्ज नहीं बल्कि संसद का मानसून सत्र होगा। क्योंकि इसके बाद ही पीएमओ से जीएम पोस्टिंग के आदेश जारी होंगे।

वहीं डीआरएम की पोस्टिंग के आदेश भी रेलवे बोर्ड इसके बाद ही निकालेगा। वहीं एक मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम नहीं प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि जीएम और डीआरएम के आदेश निकालने से पहले रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव देशभर में फैले 18 जोनल रेलवेज और उनके 68 मंडलों के मुखिया के साथ वर्चुअल बैठक करेंगे। जिसमें उनके भविष्य नीतियों उर योजनाओं को लेकर विस्तृत चर्चा की जाएगी। जिसके बाद ही माना जा रहा है कि जीएम और डीआरएम की पोस्टिंग आदेश निकाले जाएंगे।

10 में से 8 सर्विस का होना था मर्जर

तत्कालीन रेलमंत्री ने करीब तीन साल पहले देशभर के रेलवे अधिकारियों के साथ एक बैठक की। जिसमें ट्रैफिक सर्विस, पर्सनल सर्विस, अकाउंट्स सर्विस, स्टोर सर्विस सहित आठ सर्विस को इंडियन रेलवे मैनेजमेंट सर्विस (आईआरएमएस) में मर्ज करने का निर्णय लिया था। जिसे जुलाई 2019 में कैबिनेट ने भी मंजूरी दे दी। जिसमें एंपावर्ड कमेटी ऑफ मिनिस्टर और एंपावर्ड कमेटी ऑफ सेक्रेट्री बनाने के भी निर्देश दिए। लेकिन रेलवे की विभिन्न सेवाओं के अधिकारियों ने इसके खिलाफ पोस्ट कार्ड अभियान भी चलाया था।

ऐसे में रेलमंत्री की सहमति के बाद भी इस दिशा में अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया था। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि फिलहाल ऐसा नहीं किया जाएगा। क्योंकि रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव इस पर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा कर ही इस पर कोई अंतिम निर्णय लेंगे। माना जा रहा है कि वैष्णव इस निर्णय के पक्ष में नहीं है। गौरतलब है कि अगर इस सर्विस का गठन होता, तो किसी भी सर्विस का आधिकारी सीपीआरओ, सीनियर डीसीएम, डीओएम बन जाता।

सचिव बनने का सपना देख 10 जीएम रिटायर हुए और एक अगस्त में हो जाएंगे

कैबिनेट ने रेलवे के सभी जीएम को भारत सरकार के सचिव का दर्जा देने का भी निर्णय लिया था। लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हो सका। जिसके चलते अब तक रेलवे के नॉर्दन रेलवे सहित 10 जीएम सचिव का दर्जा मिलने का सपना देख कर सेवानिवृत भी हो गए। वहीं अगस्त माह में उत्तर पश्चिम रेलवे (राजस्थान) के जीएम भी इसका सपना देख रिटायर हो जाएंगे।

खबरें और भी हैं...