पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सवारियां जबरन प्राइवेट बसों में बैठाई रही:रोडवेज की सवारियां ले जा रही हैं प्राइवेट बसें, ऑपरेटरों ने पाल रखे हैं लपके, पुलिस भी नाकाम

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अब रोडवेज की सवारियां जबरन तौर पर प्राइवेट बसों में बैठाई जाने लगी है - Dainik Bhaskar
अब रोडवेज की सवारियां जबरन तौर पर प्राइवेट बसों में बैठाई जाने लगी है

अब रोडवेज की सवारियां जबरन तौर पर प्राइवेट बसों में बैठाई जाने लगी है। सिंधी कैंप बस स्टैंड के सामने बड़ी तादाद में प्राइवेट बसों का संचालन हो रहा है और यहां बस ऑपरेटरों की तरफ से रखे गए लटके सिंधी कैंप आने वाली सवारियों को रोडवेज के बजाय जबरन प्राइवेट बसों में बैठा रहे हैं। इसे लेकर रोडवेज प्रशासन तो खासा नाराज ही है और पास में ही जो सिंधी कैंप थाना है वह भी सवारियों की इस लपकागिरी को नहीं रोक पा रहा है।

गत 4 माह पहले मार्च में परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस ने मिलकर रेलवे स्टेशन रोड पर सड़क के दोनों तरफ अवैध रूप से पार्किंग होने वाली बसों को हटाने के लिए अभियान शुरू किया था। तब प्राइवेट बस ऑपरेटरों को साफ निर्देश दिए गए थे कि उनकी बसें सिर्फ सवारियां उतारने व चढ़ाने का ही काम कर सकेंगी और अधिकतम 15 मिनट ही सड़क पर खड़ी रह सकेगी लेकिन कोरोना के बाद यहां सवारियों की लपकागिरी शुरू हो गई और फिर से अवैध बसों की पार्किंग सड़क के दोनों ओर होने लगी है, जिसकी वजह से रेलवे स्टेशन पर फिर से जाम के हालात बनने लगे हैं।

8 फीट की पट्टी खींचनी थी अवैध बसों की पार्किंग रोकने को : परिवहन विभाग व ट्रैफिक पुलिस ने यहां सड़क के दोनों साइड में 8 फीट चौड़ी सफेद पट्टी बनाया जाना तय किया था ताकि बसें इसी एरिया में कुछ देर के लिए खड़ी हो सके। इस 8 फीट की पट्टी पर ही थड़ी, ठेला, खोमचा वालों को खड़े होने की अनुमति दी गई थी।

खबरें और भी हैं...