• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Protest Against The Demand For Cancellation Of Sub inspector Recruitment Examination, Said If The Government Does Not Accept The Demand, There Will Be A Fierce Movement

RPSC के खिलाफ जयपुर में छात्रों का प्रदर्शन:सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा रद्द कराने की मांग को लेकर दिया धरना, बोले - सरकार ने मांग नहीं मानी तो होगा उग्र आंदोलन

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहीद स्मारक पर धरना देते युवा बेरोजगार। - Dainik Bhaskar
शहीद स्मारक पर धरना देते युवा बेरोजगार।

राजस्थान में 13 से 15 सितंबर तक आयोजित हुई सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा में हुई धांधली की निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को शहर के शहीद स्मारक पर सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा की SOG से जांच करने के साथ परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में युवाओं ने धरना दिया।

सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा देने वाले जोधपुर के रोहित अग्रवाल ने बताया कि पिछले लंबे वक्त से वह परीक्षा की तैयारी कर रहा था। लेकिन आखिरी वक्त में जिस तरह से पेपर लीक हुआ उससे उसकी सालों की मेहनत पर पानी फिर गया है। ऐसे में इस परीक्षा की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। रोहित ने कहा कि RPSC को हाल ही में हुई भर्ती परीक्षा को रद्द कर नए सिरे से परीक्षा आयोजित करवानी चाहिए। तभी प्रदेशभर के युवाओं को न्याय मिल पाएगा।

वहीं, उदयपुर की दुर्गा ने बताया कि सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा में पेपर लीक हुआ है। लेकिन RPSC इसे स्वीकार नहीं कर रहा है। बल्कि छात्रों पर ही अनर्गल आरोप लगा रहा है। जिससे प्रदेश के हजारों छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हुआ है। ऐसे में जब तक सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा रद्द नहीं होती युवाओं का आंदोलन जारी रहेगा।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव ने बताया कि सरकारी लापरवाही का खामियाजा आम छात्रों को उठाना पड़ रहा है। ऐसे में आरपीएससी अध्यक्ष भूपेंद्र यादव का इस्तीफा लिया जाना चाहिए। साथ ही स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप से सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा की निष्पक्ष जांच करवाई जानी चाहिए। तभी प्रदेश के लाखों युवाओं को न्याय मिल सकेगा।

दरअसल, राजस्थान पुलिस सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा के पहले ही दिन पेपर लीक प्रकरण में पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी थी। इसके बाद अभ्यर्थी की ओएमआर शीट और परीक्षा केंद्र का वीडियो भी वायरल हुआ था। जिसके बाद युवाओं ने परीक्षा रद्द करने की मांग की थी। लेकिन सरकार द्वारा अब तक इस परीक्षा को रद्द करने का फैसला नहीं लिया गया है। ऐसे में प्रदेशभर के बेरोजगारों ने सरकार के खिलाफ धरना देकर भर्ती परीक्षा रद्द कर नए सिरे से भर्ती परीक्षा कराने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...