• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Protesting Against 21 point Demands Including CBI Investigation Of Paper Leak Case, Upen Said This Time There Will Be A Cross Fight

REET-SI भर्ती परीक्षा के खिलाफ अनशन पर बैठे बेरोजगार:पेपर लीक प्रकरण की CBI जांच समेत 21 सूत्री मांगों को लेकर कर रहे विरोध, उपेन बोले- अबकी बार होगी आर-पार की लड़ाई

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहीद स्मारक पर अनशन पर बैठे बेरोजगार। - Dainik Bhaskar
शहीद स्मारक पर अनशन पर बैठे बेरोजगार।

राजस्थान में रीट, सब इंस्पेक्टर और JEN भर्ती परीक्षा में हुई धांधली के खिलाफ बेरोजगारों का विरोध लगातार बढ़ता जा रहा है। राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ CBI जांच समेत 21 सूत्री मांगों को लेकर अब एक बार फिर आंदोलन की राह पर आगे बढ़ रहा है। आज से प्रदेशभर के बेरोजगार जयपुर के शहीद स्मारक पर अनशन पर बैठ गए है।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेंद्र यादव ने कहा कि पिछले लंबे समय से प्रदेशभर की बेरोजगार आंदोलनरत है। बावजूद इसके सरकार के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है। ऐसे में जब तक सरकार बेरोजगार युवाओं की मांग पूरी नहीं करती है। हमारा अनशन जारी रहेगा। उपेन ने कहा की बत्तीलाल तो सिर्फ़ एक मोहरा है। इस पूरी धांधली में कई बड़े राजनेता और अधिकारी भी शामिल है। जिनके खिलाफ भी सख्त एक्शन होने के साथ ही उनकी सम्पति को जब्त किया जाना चहिये।

उपेन ने कहा की पेपर लीक और भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़े के खिलाफ सख्त गैर जमानती कानून बनानें की मांग के साथ 23 फरवरी को सरकार के मंत्रियों के साथ लिखित समझौता हुआ था। लेकिन लम्बा वक्त बीत जाने के बाद भी सरकार के नुमाइंदे बेरोजगारों की मांग पर ध्यान नहीं दे रही है। ऐसे में इस बार बेरोजगार आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे।

बेरोजगारों की प्रमुख मांग

  • रीट और पुलिस सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा की CBI जांच करवाई जाए।
  • प्रतियोगी परीक्षा में नकल रोकने के लिए गैर जमानती कानून बनाने की साथी 10 साल की सजा का प्रावधान किया जाए।
  • JEN भर्ती डिग्री के मामले में अभ्यर्थियों ने पेपर लीक को लेकर आपत्ति दर्ज कराई थी। उन आपत्तियों पर भी तत्काल निष्पक्ष जांच करवाई जाए।
  • नीमराणा कमला देवी परीक्षा केंद्र के बाहर 6 बेरोजगार अभ्यर्थियों पर दर्ज हुआ राजकार्य में बाधा का मुकदमा वापस किया जाए।
  • रीट परीक्षा के दौरान वंचित 3 छात्रों को अन्य अभ्यर्थियों के साथ फिर से मौका मिले।
  • जिन परीक्षा केंद्र पर पेपर खुले मिलने की और देरी से पेपर पहुंचने की शिकायत मिली है। उस संबंध में सरकार तत्काल कमेटी का गठन करके 2 दिन में पीड़ित अभ्यार्थियों से प्रार्थना पत्र लेकर समस्या का हल करें। इसके साथ ही जिन परीक्षा केंद्रों पर लापरवाही बरती गई। उन परीक्षा केंद्रों की मान्यता रद्द करते हुए दोषी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।
  • पेपर लीक प्रकरण में लिप्त सभी आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाय। इसके साथ ही उन्हें राजनीतिक संरक्षण देने वाले राजनेताओं का भी खुलासा किया जाए।
खबरें और भी हैं...