• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Raghu Sharma Said No Change From Opinion, Congratulations To Those Who Want To Agree After Seeing The Headlines, What Is Seen Does Not Happen And What Happens Is Not Visible

विधायकों की शिकायतों पर स्वास्थ्य मंत्री भड़के:रघु शर्मा बोले- रायशुमारी से मंत्रिमंडल में फेरबदल नहीं होगा, जो सुर्खियां देखकर राजी होना चाहते हैं उन्हें मुबारक हो, जो दिखता है वह होता नहीं

जयपुर6 महीने पहले
रघु शर्मा (फाइल फोटो)

अजय माकन की रायशुमारी में विधायकों ने स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा की शिकायतें की है। खुद को हटाए जाने की चर्चाओं को लेकर मंत्री रघु शर्मा ने बिना नाम लिए सचिन पायलट खेमे पर निशाना साधा। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा, रायशुमारी मंत्रिमंडल फेरबदल के लिए नहीं है, जो सुर्खियां बन रही हैं, उनमें सच्चाई नहीं है। जो लोग अखबारों की सुर्खियां देखकर राजी होना चाहते हैं, उन्हें मुबारक हो। इसका मंत्रिमंडल फेरबदल से कोई लेना देना नहीं है। यह सब बातें नियोजित रूप से छपवाई जा रही हैं। मेरे खिलाफ कोई प्रोपेगेंडा टिकेगा नहीं।

रघु शर्मा ने बताया कि यह कहा गया कि स्वास्थ्य मंत्री, शांति धारीवाल और गोविंद सिंह डोटासरा के बारे में विधायकों ने शिकायत की है, बेबुनियाद बात है। शांति धारीवाल ने कोरोना में शानदार काम किया है। गोविंद सिंह डोटासरा हमारे अध्यक्ष हैं। जब सब अच्छा काम कर रहे हैं तो मंत्रियों की शिकायतें क्यों करेंगे। मेरे खिलाफ विधायकों की शिकायतें करने की बेबुनियाद बातें कही जा रही हैं। रायशुमारी में आम विधायकों की राय ली जा रही है, इसे लेकर दूसरी चर्चाएं गलत हैं।

मंत्रियों की परफाॅर्मेंस पर कोई सवाल नहीं पूछा जा रहा

रायशुमारी को लेकर फैलाई जा रही बातों में दम नहीं हैं। मंत्रियों की परफॉर्मेंस पर कोई सवाल नहीं पूछा जा रहा, इसलिए मैंने कहा कि जो होता है वह दिखता नहीं और जो दिखता है वह होता नहीं। ऐसी रायशुमारी में मंत्रिमंडल विस्तार पर चर्चा नहीं हुआ करती है। पार्टी में कोई गुट नहीं है।

रघु शर्मा का इशारा पायलट गुट की तरफ

स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने रायशुमारी का मंत्रिमंडल फेरबदल या मंत्रियों को हटाने से जोड़कर देखने की चर्चाओं को नियोजित रूप से चलवाने का आरोप लगाया है। इसका सीधा इशारा सचिन पायलट खेमे की तरफ है। सुर्खियां देखकर खुश होने की बात कहकर भी तंज कसा है। सचिन पायलट कैंप ही जल्द मंत्रिमंडल फेरबदल की मांग कर रहा है। पायलट गुट की मांगों को मानने के लिए कई मंत्रियों को बाहर करना पड़ेगा। बाहर होने वाले संभावित मंत्रियों में रघु शर्मा का नाम भी है। रघु शर्मा पहले सचिन पायलट गुट में थे। बाद में पाला बदलकर अशोक गहलोत की तरफ आ गए। रघु शर्मा अब पायलट गुट के निशाने पर हैं। नियोजित रूप से छपवाने का आरोप इसलिए पायलट खेमे पर ही माना जा रहा है।

खबरें और भी हैं...