राहुल के 31 मिनट के भाषण में हिंदू और हिंदुत्ववादी:राहुल गांधी 35 बार हिंदू और 26 बार हिंदुत्ववादी बोले, शब्दों की व्याख्या करते समय एग्रेसिव दिखे

जयपुर5 महीने पहले
जयपुर के विद्याधर नगर में हुई कांग्रेस की महंगाई रैली में राहुल गांधी।

कांग्रेस की 'महंगाई हटाओ' राष्ट्रीय रैली में पार्टी नेता राहुल गांधी काफी एग्रेसिव नजर आए। उन्होंने हिंदू और हिंदुत्ववादी शब्दों को टारगेट करते हुए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने केवल एक बार महंगाई शब्द का प्रयोग किया। अपने 31 मिनट के भाषण में 35 बार हिंदू और 26 हिंदुत्ववादी बोले।

किसानों की भी बात
जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में रविवार को हुई रैली में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पूरी तैयारी से उतरे थे। सत्य और सत्ता का जिक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि दो शब्दों का एक अर्थ नहीं हो सकता। हिंदू और हिंदुत्ववादी में फर्क है। मैं हिंदू हूं, लेकिन हिंदुत्ववादी नहीं। आज केंद्र में जो सरकार बैठी है, वह हिंदुत्ववादी है। इसे सत्य नहीं, सत्ता चाहिए। हिंदू और हिंदुत्ववादी शब्दों को लगातार बोलते रहने के बीच उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और किसान को लेकर हुई राजनीति का भी बार -बार जिक्र किया। उन्होंने किसानों का मुद्दा उठाते हुए 13 बार किसानों का जिक्र किया तो 9 बार पीएम मोदी का।

कृषि कानूनों का जिक्र
राहुल ने किसानों के लिए केंद्र सरकार की ओर से लाए गए तीन कृषि कानूनों का भी जिक्र किया। 4 बार कानून शब्द का उपयोग करते हुए मोदी को घेरने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि हिंदुत्ववादियों ने पहले पीठ पर चाकू मारा, फिर माफी मांगी। हर सभा की तरह इस सभा में भी राहुल गांधी ने किसानों के अलावा छोटे दुकानदार, ठेली वाले, छोटे व्यापारी, मध्यम वर्ग आदि का जिक्र किया। अडानी और अंबानी को टारगेट करना नहीं भूले। दोनों का तीन-तीन बार नाम लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने पूंजीपति, नोटबंदी, जीएसटी, सत्ता आदि शब्दों काे भी अपने भाषण का हिस्सा बनाया।

चन्नी जी आप पूछिए, यहां बैठे हैं, नहीं बैठे क्या?
राहुल गांधी ने किसानों का जिक्र करते हुए कहा कि पंजाब में हमारी सरकार ने किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों परिवारों को 5-5 लाख रुपए दिए। इनमें से 160 परिवारों के एक-एक सदस्य को तो नौकरी भी दे दी। परिवार के सदस्यों को भी देंगे। पूछिए आप। चन्नी जी से यहां बैठे हैं। राहुल गांधी ने पंजाब के सीएम का जिक्र करते हुए फिर नाम लिया और मंच पर इधर-उधर देखा। उन्हें चन्नी कहीं नजर नहीं आए, फिर पूछा- यहां हैं न चन्नी जी, अच्छा नहीं हैं क्या?

राहुल गांधी बोले- मैं हिंदू हूं, हिंदुत्ववादी नहीं:'महात्मा गांधी हिंदू थे और गोडसे हिंदुत्ववादी; मोदी भी हिंदुत्ववादी हैं, उन्हें सिर्फ सत्ता चाहिए'

खबरें और भी हैं...