राजस्थान में बदलाव से पहले हलचल तेज:दिल्ली में लॉबिंग में जुटे नेता, 1 अक्टूबर को दिग्विजय सिंह का जयपुर में मंत्रियों व विधायकों से मिलने का कार्यक्रम रद्द, सिर्फ प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे

जयपुर2 महीने पहले

पंजाब के बाद अब राजस्थान में कांग्रेस हाईकमान सरकार और संगठन में बदलाव की तैयारी कर रहा है। बदलावों से पहले कांग्रेस में दिल्ली से लेकर जयपुर तक सियासी हलचल तेज हो गई है। दिल्ली में इन बदलावों का खाका तैयार करने को लेकर बैठकों का दौर जारी है। सचिन पायलट कल से दिल्ली दौरे पर हैं। शुक्रवार को पायलट ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात की है। सचिन पायलट शनिवार को भी कई नेताओं से मिल रहे हैं। इन मुलाकातों को राजस्थान में बदलाव से पहले की तैयारियों से जोड़कर देखा जा रहा है।

1 अक्टूबर को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के प्रस्तावित जयपुर दौरे में मंत्री विधायकों की बैठक लेने के कार्यक्रम ने भी सियासी हलकों में चर्चाएं छेड़ दी हैं। हालांकि शनिवार देर शाम दिग्विजय के मंत्रियों व विधायकों से मिलने के कार्यक्रम को रद्द भी करा दिया गया है। अब वे जयपुर में सिर्फ प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। बताया जा रहा है कि उनके मुलाकात के कार्यक्रम की घोषणा से गलत मैसेज जा रहा था।

इस बीच, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा की भी शुक्रवार को राहुल गांधी से मुलाकात की चर्चा है। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में कैंप किए हुए हैं। संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और प्रदेश प्रभारी अजय माकन की राजस्थान को लेकर चर्चा हुई है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस लीडरशिप ने अब राजस्थान में बदलावों के ब्लू प्रिंट को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है।

अक्टूबर में कभी भी इन बदलावों की शुरुआत होने के आसार हैं। मंत्रिमंडल फेरबदल से बदलावों की शुरूआत होगी। इसके बाद संगठन के खाली पड़े पदों पर नियुक्तियां होंगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट खेमों के बीच खींचतान भी जारी है। इस बीच अब सचिन पायलट खेमे के लंबित मुद्दों पर जल्द समाधान पर काम आगे बढ़ सकता है। पायलट कैंप की मांगों पर बनी कमेटी में शामिल संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल और प्रभारी अजय माकन इस मुद्दे पर अपनी सिफारिशें कांग्रेस हाईकमान को दे चुके हैं। दोनों नेता एक्शन टेकन फॉर्मूले पर चर्चा कर चुके हैं। सोनिया गांधी और राहुल गांधी के इशारे के बाद राजस्थान में बदलावों की शुरूआत हो जाएगी।

दिल्ली में लॉबिंग तेज
राजस्थान में सत्ता संगठन में फेरबदल से पहले दिल्ली में लॉबिंग तेज हो गई है। कई मंत्रियों ने दिल्ली जाकर अपने राजनी​तिक आकाओं के जरिए सियासी हवा के रुख की टोह लेना शुरू कर दिया है। कई नेता और मंत्री दिल्ली जाकर आ चुके हैं। गहलोत सरकार में शामिल कई मंत्री अब ड्रॉप होने से बचने के लिए भी सियासी आकाओं के जरिए लॉबिंग कर रहे हैं, तो कुछ मंत्री बनने के दावेदार विधायकों ने भी अपने स्तर पर लॉबिंग शुरू कर दी है।

1 अक्टूबर को दिग्विजय सिंह करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह 1 अक्टूबर को जयपुर दौरे पर आ रहे हैं। दिग्विजय सिंह का जयपुर में मंत्रियों, विधायकों और नेताओं के साथ बैठक करने का कार्यक्रम अब रद्द कर दिया गया है। दिग्विजय सिंह महंगाई के खिलाफ कांग्रेस के अभियान के सिलसिले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने आ रहे हैं, लेकिन विधाय​कों की बैठक लेने को कांग्रेस की सियासी उठापठक से जोड़कर देखा जा रहा था। ऐसे में अचानक से उनके कार्यक्रम में बदलाव कर दिया गया है। जुलाई के आखीर में प्रभारी अजय माकन विधायकों से वन टु वन राय ले चुके हैं। अब दिग्विजय सिंह की विधायकों मंत्रियों के साथ बैठक के कांग्रेस में कई मायने निकाले जाने लगे थे। दिग्विजय सिंह राहुल गांधी के नजदीक माने जाते हैं, ऐसे में माना जा रहा था कि वे विधायकों व मंत्रियों का मन टटोलने आ रहे हैं और इसकी रिपोर्ट वे आलाकमान को सौंपने वाले थे। हालांकि अब बैठकों का कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...