राजस्थान में कोरोना के 1883 मरीज, 2 मौत:62 केस ओमिक्रॉन के; सीएम गहलोत के बेटे वैभव हुए संक्रमित

जयपुर7 महीने पहले

राजस्थान में बुधवार को कोरोना के 1883 केस मिले हैं, वहीं 2 लोगों की इस बीमारी से मौत हो गई। सबसे ज्यादा 1138 जयपुर में मरीज आए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे और राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष वैभव गहलोत भी कोरोना से संक्रमित हो गए। जयपुर में राजस्थान पुलिस अकादमी (आरपीए) और वैशाली नगर आज कोरोना का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट बना है। वैशाली नगर में जहां 58 केस मिले हैं, वहीं आरपीए में सब इंस्पेक्टर की ट्रेनिंग ले रहे 56 कैडेट्स भी पॉजिटिव मिले हैं। एक दिन पहले राजस्थान में 1137 और जयपुर में 745 केस मिले थे।

मेडिकल हेल्थ डिपार्टमेंट की रिपोर्ट के मुताबिक जयपुर के बाद सबसे ज्यादा मरीज जोधपुर में 230 मिले है। इसके अलावा अजमेर 94, अलवर 79, कोटा 53, भरतपुर, सीकर में 36-36, बीकानेर 34, भीलवाड़ा 31, उदयपुर 28, प्रतापगढ़ 23 और गंगानगर में 21 केस मिले है। वहीं जयपुर और जोधपुर में इस संक्रमण से एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

राजस्थान में 62 ओमिक्रॉन पॉजिटिव मिले
राजस्थान में बुधवार को 62 ओमिक्रॉन पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। ये मरीज पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव आए थे, जिनकी जीनोम सिक्वेंसिंग की रिपोर्ट में ओमिक्रॉन वैरिएंट मिला है। सबसे ज्यादा 52 केस जयपुर में मिले हैं। इसके अलावा कोटा में 2, हनुमानगढ़, भरतपुर, सीकर, अलवर में 1-1 केस मिला है। वहीं 4 ऐसे केस हैं जो अन्य राज्यों से ट्रेवल करके राजस्थान पहुंचे, जिनकी रिपोर्ट पोजिटिव मिली है। इन मरीजों की पुष्टि होने के बाद अब राजस्थान में ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या 236 हो गई।

वैभव गहलोत हुए पॉजिटिव
सीएम के बेटे वैभव गहलोत की जयपुर में कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। खुद उन्होंने सोशल मीडिया पर इसकी पुष्टि की है। हालांकि उनमें किसी तरह के लक्षण नहीं है, जिसे देखते हुए डॉक्टर्स ने उन्हें होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी है। गहलाेत ने अपने मैसेज में लोगों से कोरोना से न घबराने और कोविड प्रोटेकॉल की पालना करने का आग्रह किया है।

वैभव गहलोत ने ट्वीट कर खुद के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी। वैभव को कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं।
वैभव गहलोत ने ट्वीट कर खुद के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी। वैभव को कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं।

बिना लक्षण वाले ओमिक्रॉन पॉजिटिव होंगे होम आइसोलेट
केन्द्र सरकार ने कोरोना पॉजिटिव मरीजों के होम आइसोलेशन को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत अब बिना लक्षण या कम लक्षण वाले मरीज जो ओमिक्रॉन पॉजिटिव है उनको संस्थागत क्वारैंटाइन नहीं किया जाएगा। ऐसे मरीज जिनको ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत नहीं है, उनका सेचुरेशन लेवल 93 से ज्यादा है और कम लक्षण वाले है उनको घर पर ही क्वारैंटाइन किया जाएगा।

जयपुर में 78 मरीजों का एड्रेस सीएमएचओ के पास नहीं
जयपुर के 1138 में से 78 मरीज ऐसे हैं, जिनका सीएमएचओ जयपुर के पास कोई एड्रेस नहीं है। वहीं जयपुर में 2 आईएएस समेत 15 कर्मचारी भी पॉजिटिव मिले हैं। जयपुर में सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के डायरेक्टर पुरुषोत्तम शर्मा भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

राज्य सरकार में अल्पसंख्यक मामलात एवं पंचायती राज के सचिव पी.सी किशन और कृषि विभाग के प्रमुख शासन सचिव दिनेश कुमार भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जयपुर सीएमएचओ से मिली रिपोर्ट के मुताबिक आरपीए के अलावा टोंक रोड 49, तिलक नगर 24, सोडाला 52, सीतापुरा 20 समेत अन्य कई ऐसे एरिए हैं, जहां 20 या उससे ज्यादा केस मिले हैं।

जयपुर के इन एरिया में मिले 20 से ज्यादा केस
जयपुर सीएमएचओ से मिली रिपोर्ट के मुताबिक आरपीए के अलावा टोंक रोड 49, तिलक नगर 24, सोडाला 52, सीतापुरा 20, श्याम नगर, गोपालपुरा 21-21, शास्त्री नगर 47, सांगानेर 27, प्रताप नगर 24, पत्रकार कॉलोनी 25, मालवीय नगर, सी-स्कीम, आदर्श नगर में 30-30, लालाकोठी 36, जेएलएन मार्ग 28, झालाना 25, जवाहर नगर, जगतपुरा में 31-31, इंदिरा गांधी नगर 23, बनीपार्क, अजमेर रोड 34-34 केस मिले है। ये जयपुर में ऐसे एरिया है जहां 20 या उससे ज्यादा मरीज मिले है।

भरतपुर मेडिकल कॉलेज के 31 स्टूडेंट्स पॉजिटिव मिले
भरतपुर में 36 कोरोना के मरीज मिले, इसमें 31 केस तो केवल मेडिकल कॉलेज के हैं। भरतपुर में मेडिकल कॉलेज में इतनी बड़ी संख्या में केस मिलने के बाद चिकित्सा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए कलेक्टर हिमांशु गुप्ता ने कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों के स्कूल को बंद कर दिया है।

राज्य के 5 जिले अब भी कोरोना से सेफ
भले ही कोरोना की तीसरी लहर ने प्रदेश में दस्तक दे दी हो, लेकिन अब भी राज्य में 5 ऐसे जिले है जो कोरोना से बचे हुए है। इन जिलों में पिछले कुछ दिनों से एक भी केस नहीं मिला है। इसमें जैसलमेर, जालौर, राजसमंद, बूंदी और बारां जिला शामिल है। इन जिलों में एक भी एक्टिव केस नहीं है।

खबरें और भी हैं...