• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Jaipur Jodhpur (Rajasthan) Coronavirus Cases Update | Rajasthan District Wise Today News; Jodhpur Jaipur Alwar Kota Bikaner Sikar Udaipur Tonk

राजस्थान कोरोना LIVE:12वीं के प्रैक्टिकल एग्जाम टले, 17 जनवरी से शुरू होने थे; खाटूश्यामजी मंदिर अनिश्चितकाल के लिए बंद

जयपुर4 महीने पहले
बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण राज्य में 25 जिले रेड जोन में आ गए हैं। शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी दी है।

प्रदेश में राजस्थान बोर्ड की 17 जनवरी से शुरू होने जा रही 12वीं के प्रैक्टिकल एग्जाम को आगामी आदेश तक टाल दिया गया है। दरअसल, कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है और कई जिलों में संक्रमण दर 10 से ऊपर पहुंच गई है। इसी वजह से यह फैसला लिया गया है।

शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने सोशल मीडिया पर यह जानकारी देते हुए कहा कि बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण राज्य में 25 जिले रेड जोन में आ गए हैं। इन परिस्थितियों को देखते हुए तथा विशेषज्ञों की सलाह पर यह निर्णय लिया गया है। पूरी खबर यहां क्लिक कर पढ़ें...

खाटूश्यामजी मंदिर बंद
खाटूश्यामजी मंंदिर अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। कोरोना संक्रमण के चलते मंदिर कमेटी और जिला प्रशासन ने यह फैसला लिया है। खाटू कस्बे में बढ़ते संक्रमण के चलते पहले कमेटी ने एकादशी, द्वादशी और रविवार को मंदिर बंद रखने का निर्णय लिया था। पिछले गुरुवार कस्बे में एक साथ 50 से ज्यादा संक्रमित मिलने पर मंदिर मकर संक्रांति तक बंद किया गया था। बुधवार को खाटू में 44 पॉजिटिव मिले। खाटू में अब तक 132 केस मिल चुके हैं।

श्री श्याम मंदिर कमेटी अध्यक्ष शम्भू सिंह चौहान ने बताया कि बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए कमेटी ने आगामी आदेशों तक मंदिर के पट बंद रखने का फैसला लिया है। प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच नए साल के मौके पर 5 दिन में मंदिर में लाखों श्रद्धालुओं ने दर्शन किए थे। जिसके बाद चिकित्सा विभाग ने यहां रैंडम सैंपलिंग करवाई। सैंपलिंग में स्थानीय दुकानदार निवासी, होटल संचालक और कर्मचारी भी कोरोना पॉजिटिव मिले थे। एडीएम धारा सिंह मीणा ने बताया कि संक्रमण को देखते हुए मंदिर कमेटी और प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। कस्बे में आने वाले दोनों रास्तों तोरण द्वार और रींगस मोड़ पर भी बैरिकेडिंग की जाएगी।

ओमिक्रॉन के कारण राजस्थान में तेजी से बढ़ रहा है कोरोना का ग्राफ
कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के कारण मरीजों का ग्राफ बहुत तेजी से ऊपर जा रहा है। राजस्थान में 14 मार्च के बाद से जब डेल्टा वैरिएंट से दूसरी लहर आई थी, तब कोरोना के 41 हजार मरीज 27 दिन में मिले थे। इस तीसरी लहर में ओमिक्रॉन के कारण ये संख्या महज 12 दिन में ही आ गई।

दूसरी लहर में इतने केस मिलने के दौरान 136 मरीजों की जान भी जा चुकी थी, लेकिन इस बार राहत की बात ये है कि 17 मरीजों की ही मौत हुई है। विशेषज्ञों के मुताबिक तीसरी लहर में दूसरी लहर की तुलना में हॉस्पिटल में एडमिट होने वाले संक्रमितों की संख्या बहुत कम है। इसके पीछे बड़ा कारण प्रदेश में डेवलप हुई हर्ड इम्यूनिटी है।

सीएम हाउस के बाद सीएम ऑफिस में कोरोना के एंट्री
राजस्थान में कोरोना की एंट्री अब मुख्यमंत्री ऑफिस में भी हो चुकी है। 12 जनवरी को सीएम ऑफिस में 43 मरीज संक्रमित मिले। सीएम के दफ्तर में कई लोगों के और सैंपल लिए गए हैं, जिनकी जांच रिपोर्ट आना बाकी है। इससे पहले मुख्यमंत्री आवास में खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उनकी पत्नी सुनीता गहलोत और उनके पुत्र वैभव गहलोत संक्रमित हो चुके हैं।

15 जिलों में संक्रमण दर 10 फीसदी से ऊपर रही
राजस्थान में 12 जनवरी को कोरोना के कुल 9488 नए केस मिले, जो इस लहर में सबसे ज्यादा हैं। मंगलवार को राजस्थान में 68,422 लोगों की टेस्टिंग की गई। राज्य में संक्रमण की दर 14 फीसदी के करीब रही। वहीं जिलेवार स्थिति देखें तो 33 में से 15 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से ऊपर रही। सबसे ज्यादा संक्रमण दर बीकानेर में 29.50 फीसदी दर्ज हुई।

इसके अलावा जयपुर में 23, बाड़मेर में 20.75, भरतपुर में 20.54, पाली में 19.12, चित्तौड़गढ़ में 18.18, अलवर में 17.74 और सीकर में 15.70 फीसदी पॉजिटिविटी रेट दर्ज हुई। इन जिलों के अलावा कोटा, भीलवाड़ा, जोधपुर, उदयपुर, सवाई माधोपुर, अजमेर और राजसमंद ऐसे जिले हैं, जहां बुधवार को पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से 15 फीसदी के बीच रही।