जयपुर में बीच सड़क पर बेरहमी से हत्या, VIDEO:होटल कर्मचारी युवक को तब तक मारते रहे, जब तक जान नहीं निकली; दोस्तों को भी पीटा

जयपुर8 महीने पहले

जयपुर में एक 22 साल के युवक की सड़क पर पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। होटल कर्मचारी युवक को तब तक मारता रहा, जब तक उसकी जान नहीं निकली। होटल कर्मचारियों ने युवक को बचाने आए दोस्तों से भी मारपीट की। घटना रविवार रात की है। इसका वीडियो बुधवार को सामने आया है। वीडियो में होटल कर्मचारी बेरहमी से युवक को मारते नजर आ रहे हैं।

दरअसल, रविवार रात को विशाल यादव अपने दोस्त हिमांशु सैन, मोनू यादव, पुष्पेंद्र, कनक वर्धन व मानवेन्द्र के साथ पार्टी करने के लिए 200 फीट बाइपास स्थित होटल शुकुन पैलेस गया था। सभी दोस्त होटल में रूम लेकर पार्टी कर रहे थे। रात करीब 12:30 बजे पुष्पेंद्र और मोनू होटल की गैलरी में खड़े होकर बातचीत कर रहे थे। होटल कर्मचारियों ने उन्हें टोका तो कहासुनी हो गई। युवकों ने लाठी-सरिए से होटल में तोड़फोड़ कर दी।

मृतक विशाल यादव अपने पिता के साथ।
मृतक विशाल यादव अपने पिता के साथ।

होटल कर्मचारी और वहां फर्नीचर का काम कर रहे मजदूरों ने युवकों पर डंडे, रॉड, लोहे की हैंडल व फ्राईपेन से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। हमला होते ही युवक भागने लगे। विशाल बाइक लेकर भागने लगा तो उसे होटल कर्मचारियों ने घेर लिया। उन्होंने उस पर फ्राईपेन, रॉड से हमला किया। एक हमलावर विशाल के सिर पर फ्राईपेन से तब तक वार करता रहा, जब तक वह अचेत नहीं हो गया। विशाल के बेहोश होने पर हमलावर भाग गए। उसके साथी उसे तुरंत पास स्थित निजी हॉस्पिटल ले गए। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

घरवाले बोले- होटल में बात करने पर ऐसे मारते हैं क्या?
विशाल के घरवालों का कहना है कि जिस होटल में यह पूरा घटनाक्रम हुआ, उसके खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। होटल स्टाफ, मैनेजर और मालिक की लापरवाही साफ दिख रही है। होटल में अगर कोई सिगरेट पीता है तो कोई क्या इस तरह हमला करता है? होटल पर भी पुलिस को एक्शन लेना चाहिए। पुलिस ने सिर्फ 8 को ही आरोपी बनाया है। कई और की गिरफ्तारी होनी चाहिए।

पुलिस ने होटल कर्मचारी और वहां फर्नीचर का काम कर रहे मजदूरों को गिरफ्तार किया है।
पुलिस ने होटल कर्मचारी और वहां फर्नीचर का काम कर रहे मजदूरों को गिरफ्तार किया है।

मैं अकेला हो गया हूं
मृतक के भाई राजेश यादव ने बताया कि विशाल की दो दिन पहले ही एक फाइनेंस कम्पनी में उसकी नौकरी लगी। घर से दोस्त की बर्थडे पार्टी के लिए बोल कर निकला था। बर्थडे किसी का नहीं था। सिगरेट पीने की बात पर पुष्पेंद्र के साथ होटल स्टाफ ने मारपीट की थी। इसके बाद ये लोग होटल छोड़कर बाहर आने लगे तो चैनल गेट बंद करके इनसे होटल कर्मचारियों ने मारपीट करना शुरू कर दिया। मेरा एक ही भाई था वो भी चला गया मैं अकेला हो गया हूं।

मामले में इनकी हुई गिरफ्तारी
हत्या के आरोप में वैशाली नगर थाना पुलिस ने होटल शुकुन पैलेस के कर्मचारी सुरेश (29) निवासी दांतारामगढ़ सीकर, प्रहलाद कुमार बलाई (25) निवासी थानागाजी अलवर, अमन (22) निवासी शिवपुरी मध्य प्रदेश, अशोक (26) निवासी मालाखेड़ा अलवर व अनिल पापड़दा (19) निवासी नांगल राजावतान दौसा और फर्नीचर फैक्ट्री कर्मचारी लखन बैरवा (22) निवासी मानपुर दौसा, मुकेश कुमार बैरवा (32) निवासी नांगल राजावतान दौसा, लालचंद बैरवा (24) नवासी सिकराय मानपुर दौसा, महेन्द्र राव (26) निवासी रावतसर हनुमानगढ़ को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपी वैशाली नगर में नंद विहार कॉलोनी में रहते हैं।

खबरें और भी हैं...