पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राजस्थान के 71% लोगों को नहीं लगी वैक्सीन:महिलाएं टीका लगवाने में पुरुषों से पीछे; 60+ एजग्रुप के 90 फीसदी से ज्यादा लोग ले चुके पहला डोज

जयपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन अभी 45-59 एज ग्रुप वालों में हुआ है।  - Dainik Bhaskar
सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन अभी 45-59 एज ग्रुप वालों में हुआ है। 

राजस्थान में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन का अभियान लगातार जारी है। प्रदेश में अब तक 1 करोड़ 45 लाख 90 हजार से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। जिलेवार स्थिति देखें तो सबसे ज्यादा टीके जयपुर में लगे हैं, यहां सभी कैटेगरी में 15.95 लाख लोग वैक्सीन कम से कम एक डोज ले चुके हैं। जैसलमेर इस मामले में सबसे पीछे है, यहां अब तक 1.25 लाख लोगों को ही वैक्सीन लगी है। राजस्थान में महिला और पुरुष की स्थिति देखें तो महिलाएं टीका लगवाने में अब भी पुरुषों से पीछे हैं। अब तक लगे डोज में से लगभग 52.31 फीसदी भागीदारी पुरुषों की है, जबकि महिलाओं का प्रतिशत 48 फीसदी से भी कम है।

राजस्थान की टीकाकरण की स्थिति देखें तो अभी 71 फीसदी ऐसे लोग हैं, जिन्हें टीके का पहला डोज भी नहीं लगा है। इसमें सबसे ज्यादा 18 से 44 एज ग्रुप वाले हैं। राजस्थान के चुनाव आयोग के डेटा के मुताबिक यहां 18 या उससे ज्यादा की उम्र के कुल 4 करोड़ 96 लाख लोग हैं। इसमें से अब तक 1 करोड़ 45 लाख 90 हजार से ज्यादा वैक्सीन लगवा चुके हैं, यानी अब तक केवल 29 फीसदी लोगों को ही वैक्सीन लगी है।

90 फीसदी से ज्यादा बुजुर्ग
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से जारी रिपोर्ट को देखें तो राज्य में वैक्सीनेशन तीन अलग-अलग कैटेगिरी में हो रहा है। इसमें 18-44 वर्ष, 45 से 59 और 60 से अधिक उम्र के लोग शामिल हैं। राज्य में मौजूद 60+ लोगों में से 90 फीसदी से ज्यादा लोग वैक्सीन की पहली डोज लगवा चुके हैं, जबकि 35 फीसदी ऐसे लोग हैं, जिनका वैक्सीनेशन पूरा हो चुका है। यानी वे दोनों डोज लगवा चुके हैं। इस एजग्रुप के अब तक 56.74 लाख से ज्यादा लोगों को डोज लग चुकी है।

4 जिलों में 10 लाख से ज्यादा डोज लगी
राजस्थान के 33 में से 4 ऐसे जिले हैं, जहां 10 लाख (दोनों डोज) से ज्यादा डोज लगाए जा चुके हैं। इसमें जयपुर के अलावा अलवर, नागौर और जोधपुर जिला शामिल है। वहीं जैसलमेर, प्रतापगढ़ ऐसे जिले है, जहां 2 लाख से भी कम डोज लग पाए हैं।

खबरें और भी हैं...