राजस्थान में बारिश ने बढ़ाई ठिठुरन:दिन में पारा 5 डिग्री सेल्सियस तक गिरा, उदयपुर, कोटा संभाग में बरसात और हवा से छूटी कंपकपी

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतापगढ़ जिले में हुई बारिश के बाद सड़क किनारे बहता पानी। - Dainik Bhaskar
प्रतापगढ़ जिले में हुई बारिश के बाद सड़क किनारे बहता पानी।

राजस्थान समेत पूरे उत्तर-भारत में लगातार दूसरे दिन भी आसमान में घने बादल छाए रहे। कोटा, बारां, बूंदी, उदयपुर, डूंगरपुर, प्रतापगढ़ समेत कई जगहों पर हुई हल्की बारिश और हवाएं चलने से ठिठुरन बढ़ गई। लोग आम दिनों के मुकाबले ज्यादा गर्म कपड़े पहनकर सर्दी से बचते नजर आए। इधर कोटा, उदयपुर संभाग में हुई बारिश फसलों के लिए वरदान साबित हो रही है। किसानों को अब फसलों के लिए सिंचाई करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक आज भी प्रदेश में अधिकांश जिले बादलों से अटे रहे। कई शहरों में रात के साथ-साथ दिन में भी ठंडे हो गए और दिन-रात के तापमान में 4 डिग्री सेल्सियस तक का ही अंतर रह गया। पूर्वानुमान के मुताबिक आज भी उदयपुर, कोटा, भरतपुर, अजमेर और जयपुर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग का अनुमान है कि सिस्टम अब धीरे-धीरे कमजोर पड़ रहा है और 3 दिसंबर से प्रदेश में कई जगह आसमान साफ होने लगेगा और धूप खिलने लगेगी। संभावना जताई जा रही है कि 4 दिसंबर से अधिकांश राजस्थान का हिस्से में मौसम पूरी तरह साफ हो जाएगा।

दिन में पारा 5 डिग्री सेल्सियस तक गिरा
राजस्थान के बूंदी जिले में दिन का अधिकतम तापमान 19.2 और रात का न्यूनतम तापमान 15.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जहां पूरे 24 घंटे के दौरान तापमान में केवल 4 डिग्री सेल्सियस का उतार-चढ़ाव देखने को मिला। इसी तरह उदयपुर और भीलवाड़ा में भी दिन का अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस के आस-पास दर्ज हुआ। भीलवाड़ा, उदयपुर, बाड़मेर समेत अन्य कुछ शहरों में दिन के अधिकतम तापमान में 5 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट भी हुई।

राजस्थान में सर्दी, भगवान को पहनाए गरम कपड़े:जयपुर-जोधपुर में सुबह से बादल छाए, ठंडी हवाएं चलीं; राधा कृष्ण का गरम कपड़ों से श्रृंगार किया