पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Rajasthani Artists Won The Hearts Of The Audience Due To The Brilliant Rendition Of Folk Songs At The 'Basantotsav' Program

कॉन्सर्ट सीरीज ‘पधारो म्हारे देस’ का चौथा एपिसोड:‘बसंतोत्सव’ कार्यक्रम में लोक गीतों की शानदार प्रस्तुति; राजस्थानी कलाकारों ने जीता श्रोताओं का दिल

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बुंदू खान लंगा (लंगा गायक), महेशा राम और समूह (मेघवाल), रूपा और पूनम सपेरा (कालबेलिया) ने भी अपने सुरों का जादू बिखेरा।

राजस्थान के दूरदराज के इलाकों में रहने वाले लोक कलाकारों की सहायता के लिए अर्पण फाउंडेशन की ओर से शुरू किए गए केविड रिलीफ कॉन्सर्ट सीरीज ‘पधारो म्हारे देस’ के चौथे एपिसोड का आज सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आयोजन किया गया। कोरोना काल में प्रदेश के लोक कलाकारों को आर्थिक संबंल देने के उदेश्य से इस सीरीज की शुरुआत की गई थी। इस सीरीज की अवधारणा गायिका मनीषा ए. अग्रवाल ने बताया कि इन प्रयासों के जरिए अब तक 125 से ज्यादा लोक कलाकारों को आर्थिक संबंल मिला है। साथ ही कई अन्य कलाकारों को सहायता प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि आज इसी सीरीज के चौथे एपिसोड के तहत आज ‘बसंतोत्सव’ का आयोजन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर किया गया। इसमें गायक और संगीतकार तोची रैना (कबीरा के गायक) ने अपनी पुरअसर और शानदार आवाज में ‘जुगनी’ और ‘कबीरा’ जैसे गीत गाकर दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया। इसके बाद राजस्थान के ख्याति प्राप्त लोक कलाकार मामे खान ने सूफियाना कलाम ‘छाप तिलक सब छीन ली रे मोसे नैना मिलाई के’ पेश करते हुए श्रोताओं का दिल जीत लिया। इनके साथ ही बुंदू खान लंगा (लंगा गायक), महेशा राम और समूह (मेघवाल), रूपा और पूनम सपेरा (कालबेलिया), दापू खान और समूह (मांगणियार) और महबूब खान लंगा ने भी अपने सुरों का जादू बिखेरा।

उन्होंने बताया कि इस डिजिटल कोविड रिलीफ कॉन्सर्ट श्रृंखला की शुरुआत प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की थी। इसके तहत जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर, जयपुर और राज्य के अन्य हिस्सों के लोक कलाकारों ने नृत्य और संगीत की प्रस्तुति के जरिए अपने हुनर का प्रदर्शन किया है।

खबरें और भी हैं...