• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Ras Mohan Singh Charan Committed Suicide In Jaipur Near Kanakpura Railway Station He Wrote In The Suicide Note I Am In Mental Depression

जयपुर में RAS अफसर ने खुदकुशी की:मार्निंग वॉक पर जाने की बात कहकर घर से निकले, फिर ट्रेन के आगे कूदकर जान दी; सुसाइड नोट में लिखा- मैं मानसिक अवसाद में हूं

जयपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कनकपुरा फाटक के पास रेलवे ट्रैक पर मिला RAS मोहन सिंह चारण का शव - Dainik Bhaskar
कनकपुरा फाटक के पास रेलवे ट्रैक पर मिला RAS मोहन सिंह चारण का शव

राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) के अफसर मोहन सिंह चारण ने जयपुर के करधनी इलाके में सोमवार को ट्रेन के सामने आकर खुदकुशी कर ली। उनका शव रेलवे ट्रैक पर देखकर किसी राहगीर ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद करधनी थाना पुलिस मौके पर पहुंची। तलाशी के दौरान मृतक अफसर की जेब में एक सुसाइड नोट मिला, जिसमें मानसिक अवसाद में होने और उनकी मौत के बाद किसी को परेशान नहीं करने की बात लिखी है।

करधनी थानाप्रभारी राजेश बाफना ने बताया कि RAS मोहन सिंह चारण (53) गांधी नगर स्थित महिला एवं बाल विकास विभाग में तैनात थे। वे वैशाली नगर इलाके में नेमी सागर कॉलोनी में परिवार के साथ रहते थे। थानाप्रभारी के मुताबिक सुबह करीब 8:30 बजे कनकपुरा फाटक के पास उनका शव रेलवे ट्रैक पर मिलने की सूचना आई थी। तब घटनास्थल पर रेलवे ट्रैक के पास एक कार खड़ी मिली।

इसके रजिस्ट्रेशन नंबरों और जेब में मिले ड्राइविंग लाइसेंस के आधार पर पुलिस ने शव की पहचान कर परिजनों को सूचना दी। इसके बाद मोहन सिंह का बेटा अश्विनी और अन्य लोग मौके पर पहुंचे। तब एक सुसाइड नोट मिला। जिसमें मोबाइल नंबर और पता भी लिखा था।

बेटे ने बताया कि पापा रोजाना की तरह मॉर्निंग वॉक पर जाने का कहकर घर से निकले थे

पुलिस पूछताछ में बेटे अश्विनी ने बताया कि पापा रोजाना सुबह कार लेकर मॉर्निंग वॉक पर जाया करते थे। आज भी वे घर से कार लेकर मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। मोहन सिंह चारण रोजाना खिरणी फाटक के आसपास तक मार्निंग वॉक करते थे। फिलहाल RAS मोहन सिंह के मानसिक अवसाद में होने की वजह सामने नहीं आई है।

घटनास्थल पर शव देखकर पहले पुलिस का मानना था कि संभवतया रेलवे ट्रैक पार करते वक्त मोहन सिंह ट्रेन की चपेट में आ गए, लेकिन उनकी जेब में मिले सुसाइड नोट के बाद साफ हो गया कि उन्होंने खुद ट्रेन के सामने आकर जान दी है। ट्रेन की टक्कर से उनके जूते भी खुल कर दूर जा गिरे। वह प्रमोटिव RAS थे। इसके पहले नगर निगम जयपुर में भी आयुक्त रह चुके थे।

खबरें और भी हैं...