20 हजार की नौकरी के लिए इंजीनियर कर रहे अप्लाई:संविदा के 93 पदों पर आए 17,523 आवेदन, लंबी लाइन देख बढ़ाए काउंटर

जयपुर6 महीने पहले

राजस्थान में शहरी लोगों की बेरोजगारी दूर करने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना (IRGY-U) शुरू की है। इसमें नरेगा की तर्ज पर कुशल और अकुशल श्रमिक और उनके परिवार को साल में 100 दिन का रोजगार दिया जाएगा। लेकिन कुशल और अकुशल श्रमिकों से बड़ा बेरोजगारी का मुद्दा पढ़े-लिखे और सिविल इंजीनियर करे डिग्रीधारी युवाओं के मामले में देखने को मिल रहा है। IRGY-U में के तहत काम करने वाले इन श्रमिकों की मॉनिटरिंग करने और उनके कार्यो की आंकलन करने के लिए सरकार जिन कर्मचारियों की संविदा पर भर्ती कर रही है। उसमें लगने के लिए हजारों लोग लाइन लगाकर खड़े है।

जयपुर जिले में नगर निगम ग्रेटर और नगर निगम हैरिटेज समेत कुल 14 नगर पालिकाओं में सरकार ने पिछले दिनों 93 पदों (इंजीनीयर, लेखा सहायक, शहरी रोजगार सहायक और MIS मैनेजर) पर भर्ती निकाली और आवेदन मांगे। 20 दिन के अंदर इन पदों के लिए 17,523 आवेदन आ गए यानी एक पद पर 188 लोग मैदान में है, जबकि इसमें वेतनमान 7500 रुपए से लेकर अधिकतम 20 हजार रुपए है। नोडल एजेंसी नगर निगम हैरिटेज में इन भर्ती के लिए आवेदन मांगे गए। उस समय शुरुआत में आवेदन लेने के लिए केवल एक काउंटर खोला गया था, लेकिन अंतिम 3 दिन के अंदर काउंटर की संख्या बढ़ाकर 10 करनी पड़ गई।

आपको बता दें कि इन पदों पर भर्ती होने वाले कर्मचारी ही IRGY-U के तहत होने वाले तमाम कामों की मॉनटरिंग करेंगे। इन्ही कर्मचारियों की रिपेार्ट के आधार पर IRGY-U में काम करने वाले कुशल व अकुशल श्रमिकों की हाजिरी और वेतनमान दिया जाएगा।

शहरी रोजगार सहायक के पद पर सबसे ज्यादा आवेदन
जूनियर टैक्नीकल असिस्टेंट (सिविल या मैकेनिकल इंजीनीयरिंग में डिग्रीधारी) के लिए 22 पद, जूनियर टैक्नीकल असिस्टेंट (सिविल या मैकेनिकल इंजीनीयरिंग में डिप्लोमाधारी) के लिए 6, लेखा सहायक के 18, MIS मैनेजर के 18 और शहरी रोजगार सहायक के 29 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मांगे गए। इसमें सबसे ज्यादा शहरी रोजगार सहायक के पद के लिए 10,419 आवेदन आए है यानी एक पद के लिए 359 लोग कतार में है। वहीं जूनियर टैक्नीकल असिस्टेंट (सिविल या मैकेनिकल इंजीनीयरिंग में डिप्लोमाधारी) के 6 पद के लिए 1322 यानी हर पद पर 220 आवेदकों में कॉम्पिटिशन है।