• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • REET Exam 2021 Rajasthan Fake Candidates In Dausa Recovered Rs 5 Lakh For Appearing In The Examination, Three Miscreants Arrested In Sikar Provided Paper Of Reet Exam

REET में डमी कैंडिडेट बैठाने वाले थे, 7 गिरफ्तार:सीकर में पेपर लीक कराने की तैयारी थी, 5-5 लाख रुपए में की डील; लग्जरी कार, करोड़ों का हिसाब मिला, कोचिंग सेंटर्स से जुड़े तार

दौसा/सीकरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीकर में गिरफ्तार आरोपी। - Dainik Bhaskar
सीकर में गिरफ्तार आरोपी।

राजस्थान में इस साल की सबसे बड़ी परीक्षा (REET) में महज दो दिन शेष हैं। इससे पहले परीक्षा में फर्जी अभ्यर्थियों को बैठाने वाले, पेपर उपलब्ध करवाने और नकल करने वाले रैकेट की धरपकड़ जारी है। इसी बीच, दौसा जिले में डमी अभ्यर्थी बिठाकर परीक्षा दिलवाने के एवज में 5.80 लाख रुपए वसूलने वाले गैंग के चार सदस्यों और सीकर जिले में परीक्षा से पहले पेपर उपलब्ध करवाने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से लग्जरी गाड़ियां भी जब्त की गई हैं। प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया है कि ये सभी विभिन्न कोचिंग संस्थान और लाइब्रेरी से जुड़े हैं।

जयपुर रेंज आईजी हवासिंह घुमरिया ने बताया कि रमेश मीना (25) और दशरथ सिंह (30) निवासी पाटन थाना सिकन्दरा जिला दौसा, करण सिंह मीना (24) निवासी चैनपुरा थाना नादौती जिला करौली, सुमेर मीना (35) निवासी मुडियांखेडा थाना मानपुर जिला दौसा पकड़े गए हैं। दौसा में कोतवाली पुलिस ने इनको REET परीक्षा में सलेक्शन का झांसा देकर डमी अभ्यर्थी बैठाकर परीक्षा दिलवाने के मामले में गिरफ्तार किया है। यह गैंग रेलवे, NEET, JEE आदि में पास कराने की गारंटी लेता है। इसके बदले मोटी रकम वसूलते हैं। इन सभी से विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में वसूले गए करोड़ों रुपए के लेन-देन का हिसाब मिला है।

जयपुर के अभ्यर्थी से वसूले 5 लाख रुपए

आईजी घुमरिया के मुताबिक, दौसा शहर में एक गाड़ी बार-बार चक्कर लगाती हुई नजर आई थी। मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर कोतवाली पुलिस ने कार में सवार चारों युवकों को पकड़ा। पूछताछ करने पर वे मनगढंत बातें करने लगे। पुलिस ने संदेह होने पर शांतिभंग के मामले में गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से 5.80 लाख रुपए बरामद हुए। तब दौसा शहर एसपी अनिल बेनीवाल व उपाधीक्षक दीपक कुमार शर्मा के सुपरविजन में चारों युवकों से सख्ती से पूछताछ में सामने आया कि उन्होंने जयपुर के रहने वाले राजेंद्र मीना से REET में पास करवाने के एवज में 5 लाख रुपए लिए हैं। राजेंद्र को सलेक्शन की गारंटी देकर उसकी जगह डमी अभ्यर्थी से परीक्षा दिलवाने का आश्वासन दिया। यह भी सामने आया कि 5 लाख रुपए दौसा में मानपुर तहसील के मुडिया खेड़ा निवासी सुमेर सिंह को देने हैं। चारों आरोपियों के मोबाइल फोन चेक किए। इसमें REET से संबंधित चैट, फोन कॉल रिकॉर्डिंग मिली है।

वॉट्सऐप चैटिंग के जरिए मांगे रुपए

सीकर में भी उद्योग नगर पुलिस ने REET के पहले पेपर उपलब्ध करवाने का झांसा देकर मोटी रकम की डिमांड करने वाले गैंग के तीन युवकों को शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के मोबाइल से पुलिस को 50 से अधिक अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड एवं 14 हजार रुपए मिले हैं। उद्योग नगर थानाधिकारी पवन कुमार चौबे ने बताया कि गुरुवार देर रात सूचना मिली थी कि NH 52 पर बाजौर गांव में मिल्खा डिफेंस एकेडमी के पास एक युवक REET के पेपर उपलब्ध करवाने के नाम पर रकम वसूल रहा है। पुलिस टीम ने एक कार में सवार हेमंत कुमार ( 26 ) निवासी किशनपुरा, रानोली जिला सीकर को पकड़ा। उसके पास 14 हजार रुपए और 50 से ज्यादा रीट में बैठने वाले अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र मिले। यह भी पता चला कि हेमंत कुमार पहले सीकर में भावना डिफेंस एकेडमी चलाता था।

गैंग में ई-मित्र संचालक भी शामिल

गहनता से पूछताछ में गिरोह में शामिल रानोली क्षेत्र के ही रहने वाले सुरेश यादव (27) को गिरफ्तार किया गया। वह गांव में ही ई-मित्र चलाता है। साथ ही, तीसरे आरोपी अशोक मील (26) को गिरफ्तार किया गया। वह को-ऑपरेटिव सोसाइटी में काम करता है। यह गैंग वॉट्सऐप चैट के माध्यम से ही लेनदेन की बात करता है। परीक्षार्थियों से पेपर उपलब्ध करवाने के नाम पर 5 से 15 लाख रुपए तक डिमांड करते हैं। पुलिस अब इस गैंग के मुख्य सरगना और अन्य सदस्यों को नामजद कर तलाश कर रही है।

खबरें और भी हैं...