पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Revealed In The Report Of Vigilance Wing Work In The Field Started Two Months Before The Work Order In The Drinking Water Project

जल जीवन मिशन:विजिलेंस विंग की रिपोर्ट में खुलासा- पेयजल प्रोजेक्ट में वर्कऑर्डर के दो महीने पहले ही फील्ड में काम शुरू

जयपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जल जीवन मिशन के पेयजल प्रोजेक्ट में बड़ी गड़बड़ी उजागर हुई है। - Dainik Bhaskar
जल जीवन मिशन के पेयजल प्रोजेक्ट में बड़ी गड़बड़ी उजागर हुई है।

जल जीवन मिशन के पेयजल प्रोजेक्ट में बड़ी गड़बड़ी उजागर हुई है। प्रोजेक्ट व स्कीम के वर्कऑर्डर और ड्राइंग-डिजायन अप्रूवल होने से पहले ही फील्ड में काम शुरू हो रहे हैं। इससे टेंडर पुलिंग यानि किस ठेकेदार को टेंडर दिया जाना है, यह तय है। विभाग की विजिलेंस विंग ने अतिरिक्त मुख्य सचिव सुधांश पंत को दी रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि दूदू प्रोजेक्ट में एक्सईएन योगेंद्र सिंह, एईएन दीपेश चौधरी व जेईएन युधिष्टिर मीना ने ठेकेदार मैसर्स यादव कंस्ट्रक्शन कंपनी से मिलकर पहले ही काम शुरू करवा दिया।

रिपोर्ट में टेंडर करने वाले व वर्कऑर्डर देने वाले एडिशनल चीफ इंजीनियर मनीष बेनीवाल को लेकर कोई रिपोर्ट नहीं दी है। एसीएस सुधांश पंत ने रिपोर्ट पर कार्रवाई देने के लिए हाईलेवल कमेटी को मामला ट्रांसफर किया है। बताया जा रहा है कि इस मामले में दोषी इंजीनियरों को चार्जशीट दी जाएगी। वहीं काॅन्ट्रेक्टर के खिलाफ कार्रवाई होगी।

एक ही प्रोजेक्ट की गड़बड़ी के बाद पूरे जल जीवन मिशन की क्वालिटी कंट्रोल पर सवाल उठ रहे हैं। कमेटी में एक्सईएन श्रीकृष्ण कुमार रोहिल्ला, एईएन बबली गुर्जर व एएओ रामावतार शर्मा शामिल थे।

रिपोर्ट में ये :

  • दूदू प्रोजेक्ट का काम अप्रैल के अंतिम सप्ताह से ही शुरू कर दिया था, जबकि 28 मई को वर्कऑर्डर और 9 जून को ड्राइंग व डिजायन अप्रूवल हुई।
  • प्रोजेक्ट के टेंडर के बाद ड्राइंग व डिजायन में बदलाव किया।
  • मेटेरियल की टेस्टिंग नहीं हुई। कंक्रीट क्यूब टेस्ट में बाइस गोदाम की लैब में टेस्ट करवाया। लैब एनएबीएल से अप्रूव्ड नहीं है।
खबरें और भी हैं...