पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • RSLDC Corruption Case ACB Searched The Records For Six Hours In The Rooms Of 9 Officers Including IAS Neeraj's Pawan, IAS Pradeep Gawde, The Sealed Rooms Were Opened After Three

RSLDC में भ्रष्टाचार मामला:IAS नीरज के पवन, प्रदीप गवडे़ सहित 9 अफसरों के कमरों में ACB ने छह घंटे तक खंगाले रिकॉर्ड, तीन बाद खोली गई बंद कमरों की सील

जयपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दो दिन की छुट्‌टी के बाद एसीबी टीम सोमवार को RSLDC में पहुंची। नौ कमरों की सील खोलकर छह घंटे तक वहां रिकॉर्ड खंगाले। अहम फाइलें जब्त की। - Dainik Bhaskar
दो दिन की छुट्‌टी के बाद एसीबी टीम सोमवार को RSLDC में पहुंची। नौ कमरों की सील खोलकर छह घंटे तक वहां रिकॉर्ड खंगाले। अहम फाइलें जब्त की।

राजस्थान राज्य कौशल विकास निगम (RSLDC) में रिश्वतकांड में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) की कार्रवाई जारी है। एसीबी ने दो दिन बाद सोमवार को बंद किए गए RSLDC के नौ कमरों की सील खोली। इसके बाद डीएसपी बहादुर सिंह के नेतृत्व में एसीबी टीम ने RSLDC परिसर में पहुंचकर करीब छह घंटों तक रिकॉर्ड खंगाला।

एसीबी की टीम दोपहर करीब 12 बजे RSLDC पहुंची। वहां निगम के चेयरमेन IAS नीरज के. पवन और मुख्य प्रबंधक IAS प्रदीप कुमार गवड़े के अलावा 5 लाख रुपए की रिश्वत लेते ट्रेप हुए स्कीम कॉर्डिनेटर अशोक सांगवान और सहायक आचार्य राहुल कुमार गर्ग सहित 9 अफसरों के सीज किए गए कमरों में रिकॉर्ड खंगाला। पांच लाख रुपए की रिश्वत मांगने की शिकायत देने वाले परिवादी सहित अन्य फर्म संचालकों की फाइलों को कमरों से जब्त किया।

पांच बैगों में रिकॉर्ड जब्त कर शाम 6 बजे लौटी एसीबी टीम

जानकारी के मुताबिक इनमें जब्त की गई वे भी फाइलें थी जिन फर्मों को ब्लैकलिस्ट किया गया था और ब्लैकलिस्ट करने के बाद नाम हटाकर राहत दी थी। सूत्रों के मुताबिक शाम करीब 6 बजे एसीबी के अफसर व कर्मचारी करीब चार पांच बैगों में रिश्वतकांड से जुड़ी अहम फाइल व दस्तावेज लेकर वापस लौटे। एसीबी की कार्रवाई की वजह से कौशल विकास निगम का कार्यालय में सन्नाटा पसरा रहा। ज्यादातर कर्मचारी व अफसर इधर उधर ही रहे। इसका असर सामान्य दिनों में होने वाले कामकाज पर भी पड़ा।

आईएएस नीरज के पवन का मोबाइल जयपुर मंगवाया, जल्द ही फोरेंसिक लैब में भेजे जाएंगे

एसीबी सूत्रों के मुताबिक शनिवार को जोधपुर में जब्त किए गए आईएएस नीरज के. पवन के मोबाइल फोन भी जयपुर मंगवा लिए है। इसके अलावा अन्य मोबाइल फोन पहले ही जब्त है। अब इनको जांच के लिए मंगलवार तक फोरेंसिक साइंस लैब (FSL) भेजा जाएगा। इसमें खुलासा होगा कि IAS ने क्या क्या चैट डिलीट की है।

शिकायत दर्ज करने के बाद शनिवार को हुई ट्रेप कार्रवाई में एसीबी कल तक मुकदमा भी दर्ज करेगी। रिश्वतकांड से जुड़े पीड़ित व अन्य लोगों के बयान भी दर्ज किए जा रहे है। इससे पहले एसीबी के एएसपी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ की टीम ने अशोक सांगवान और राहुल कुमार गर्ग को रविवार को कोर्ट में पेश कर पांच दिन के रिमांड पर लिया था। उनसे गहनता से पूछताछ की जा रही है।

शनिवार को 5 लाख रुपए रिश्वत लेते ट्रेप हुए थे दो अफसर

ACB ने करीब 300 लोगों को ट्रेनिंग देने के बाद डेढ़ करोड़ रुपए का बकाया बिल का भुगतान करने और फर्म का नाम ब्लैकलिस्ट से बाहर करने की एवज में पांच लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए अशोक सांगवान और राहुल कुमार गर्ग को रंगे हाथ गिरफ्तार किया था। प्रारंभिक पूछताछ में दोनों आरोपियों कौशल विकास निगम के बड़े अफसरों के कहने पर रिश्वत की मांग करना बताया था। तब एसीबी ने तत्काल 9 कमरे सील कर दिए। फिर आईएएस नीरज के पवन, आईएएस प्रदीप गवड़े सहित दोनों आरोपियों के मोबाइल फोन जब्त कर लिए।