कैब कंपनियों की मनमानी:लाइसेंस देने के बाद भी कैब कंपनियों के किराए पर आरटीओ का नियंत्रण नहीं

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैब कंपनियां बिना परमिशन किराए में बढ़ोतरी कर रही हैं। इसके बाद भी संबंधित अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। - Dainik Bhaskar
कैब कंपनियां बिना परमिशन किराए में बढ़ोतरी कर रही हैं। इसके बाद भी संबंधित अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहे हैं।

कैब कंपनियों काे लाइसेंस देने के बाद भी आरटीओ अफसरों का किराया बढ़ोतरी पर नियंत्रण नहीं है। कैब कंपनियां बिना परमिशन किराए में बढ़ोतरी कर रही हैं। इसके बाद भी संबंधित अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहे हैं।

कैब कंपनियों की मनमानी से लाेगाें काे 30 फीसदी तक अतिरिक्त किराया देना पड़ रहा है। यह स्थिति ताे तब है जबकि कैब पॉलिसी में कंपनियों काे आरटीओ से लाइसेंस लेना हाेता है। नियमों की पालना नहीं करने पर लाइसेंस निरस्त किया जा सकता है।

ऑटाे रिक्शा और मिनी बसाें का किराया आरटीओ तय करता है। अधिक किराया लेने पर कार्रवाई की जाती है, लेकिन कैब कंपनियों पर कार्रवाई नहीं करना सवालों में है। शहर में 1 हजार कैब संचालित हैं।

अनियमितता पर कैब कंपनियों काे नोटिस दे रखा है। किराया बढ़ोतरी के बाद भी नोटिस देकर जवाब मांगा जाएगा। इसके बाद जल्द ही कैब कंपनियों के साथ बैठक करेंगे। वैसे किराया का निर्धारण मुख्यालय स्तर पर हाेता है।
-राकेश शर्मा, आरटीओ

खबरें और भी हैं...