पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गहलोत और पायलट गुट आमने-सामने:कांग्रेस के भीतर मचा घमासान, एक-दूसरे के खिलाफ चल रहा आरोप-प्रत्यारोप का दौर

जयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट। - Dainik Bhaskar
सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट।

प्रदेश में चल रहे सियासी संकट के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट के समर्थक विधायक एक-दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोल लिया है। सोमवार को सुबह जहां गहलोत समर्थक विधायक पायलट के खिलाफ बोल रहे थे। वहीं शाम होते-होते पायलट समर्थक विधायकाें ने गहलाेत के खिलाफ तीखे बोल बोलना शुरू कर दिया। जहां गहलोत की ओर से प्रतापसिंह खाचरियावास, महेश जोशी, दानिश अबरार ने मोर्चा संभाला। 

पायलट की ओर से यूथ कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष मुकेश भाकर, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हेमाराम चाैधरी, दीपेंद्र सिंह शेखावत व भंवर लाल शर्मा ने गहलोत सरकार से खुलकर अपनी नाराजगी जाहिर की। भाकर ने तो यहां तक कह दिया कि कांग्रेस में निष्ठा का मतलब है अशोक गहलोत की गुलामी है। वहीं दीपेंद्र सिंह व हेमाराम ने कहा कि गहलोत के पास बहुमत नहीं है। जबकि गहलोत समर्थकों का कहना है कि बहुमत हमारे साथ है।

पायलट या कांग्रेस का कोई भी विधायक हो,  मैं उन सबसे कहूंगा कि पैसा ही सब कुछ नहीं हैं: प्रताप

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास का कहना है कि चाहे कोई कुछ भी कर ले। कितना भी षड़यंत्र कर ले। किसी भी कीमत पर यह सरकार जाने वाली नहीं है। यहां पूरा नंबर गेम है। 109 एमएलए साथ खड़े हैं। सरकार तो हमारी रहेगी। वे चेहरे एक्सपोज हो जाएंगे जो हाथ के निशान पर जीतकर आए हैं। इसलिए वे पाप नहीं करें।

आज इन्कम टैक्स के छापों से साबित हो गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के इशारों पर यह सारा गेम प्लान हुआ है। भाजपा किसको नाटक दिखा रही है। यह राजस्थान की धरती है, मध्यप्रदेश की नहीं। भाजपा को अब पता चलेगा कि पन्नाधाय और महाराणा प्रताप की धरती पर लड़ने का मतलब क्या है। सचिन पायलट या कांग्रेस का कोई भी विधायक हो। मैं उन सबसे कहूंगा कि पैसा ही सब कुछ नहीं है। स्वाभिमान और शौर्य और जनता का वोट ही सब कुछ है।

प्रदेश में फ्लोर टेस्ट होना चाहिए: सिंह

दीपेंद्र सिंह शेखावत ने दावा किया कि उनके साथ लगभग 30 विधायक हैं। उन्होंन कहा कि और  विधायक भी हमारे साथ आ सकते हैं। शेखावत ने भी गहलाेत सरकार से खुलकर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि पिछले डेढ़ साल से राजस्थान में कोई काम नहीं हुआ है न ही हमारे क्षेत्र में कोई विकास काम हुआ है। एक इंच सड़क तक नहीं बन सकी है। पानी की व्यवस्था भी नहीं हुई है। शेखावत ने कहा कि राजस्थान में बिल्कुल फ्लोर टेस्ट होना चाहिए।

गहलोत की गुलामी मंजूर नहीं: भाकर

यूथ कांग्रेस अध्यक्ष मुकेश भाकर ने ट्वीट कर प्रदेश की सियासत में जबरदस्त हलचल मचा दी। उन्होंन ट्वीट किया। जिंदा हो तो जिंदा नजर आना जरूरी है। उसूलों पर आंच आए तो टकराना जरूरी है” कांग्रेस में निष्ठा का मतलब है अशोक गहलोत की गुलामी। वो हमें मंजूर नहीं।

विधायकों को पुलिस कर रही है परेशान: हेमाराम

हेमाराम चौधरी ने कहा कि गहलोत खेमें के पास यदि 106 विधायक हैं तो बहुमत उनके पास है फिर विधायकों को होटल में बंद क्याें किया है। विधायकों के घर पर पुलिस लगा दी गई है, उनका घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें