सरकारी टीचर्स ने खोला मोर्चा:बोले- जल्दी जारी हो ट्रांसफर लिस्ट, नहीं तो CM हाउस का करेंगे घेराव

जयपुर4 महीने पहले
शदीद स्मारक पर धरना देते थर्ड ग्रेड टीचर्स।

राजस्थान में ट्रांसफर का इंतजार कर रहे टीचर्स ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बुधवार को प्रदेश स्वच्छता पर पहुंचे शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ धरना दिया। उन्होंने बताया की सरकार बने तीन साल से ज्यादा का वक्त बीत गया है। लेकिन थर्ड ग्रेड टीचर्स का अब तक ट्रांसफर नहीं हुआ। वहीं 9 महीने पहले जो आवेदन मांगे गए थे, उन्हें भी निरस्त करने की तैयारी है। ऐसे में अगर सरकार नए टीचर्स की ट्रांसफर लिस्ट नही निकली। तो प्रदेशभर के टीचर्स जयपुर में अनिश्चितकालीन धरना देने के साथ ही CM हाउस का घेराव करेंगे।

कल्ला ने कहा- फिर से करना पड़ेगा आवेदन
राजस्थान के शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने मंगलवार को कहा था कि शिक्षा विभाग ने टीचर्स के ट्रांसफर के लिए नई ट्रांसफर पॉलिसी बनाई है। जिसे शिक्षा विभाग ने अप्रूवल के लिए मुख्य सचिव को भेज दी है। ऐसे में नई पॉलिसी अप्रूव होने के बाद ने सिरे से ट्रांसफर के लिए आवेदन मांगे जाएगे। वहीं नई शिक्षा नीति के तहत जो भी टीचर उसके अंतर्गत आएगा। उनको ही ट्रांसफर में राहत दी जाएगी। ऐसे में शिक्षा मंत्री के बयान के बाद से ही प्रदेशभर के टीचर्स ने सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है।

दरअसल, राजस्थान में पिछले साल अगस्त महीने में शाला दर्पण पर टीचर्स से ट्रांसफर के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। जिसमें प्रदेश के 85 हजार से ज्यादा टीचर्स ने अपने गृह जिले में आने के लिए आवेदन किया था। 9 महीने का वक्त बीत जाने के बाद भी टीचर्स के ट्रांसफर नहीं हुए थे। जिसको लेकर प्रदेशभर के टीचर्स लंबे समय से विरोध कर रहे है। वहीं अब शिक्षा विभाग ने नई ट्रांसफर पॉलिसी तैयार कर मुख्य सचिव उषा शर्मा के पास भेज दी है। मुख्य सचिव ट्रांसफर पॉलिसी को जांच कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास भेजेंगी। ऐसे में थर्ड ग्रेड टीचर्स को ट्रांसफर के लिए अब कुछ महीने और इंतजार करना पड़ेगा।