जयपुर के दर्जनों जैन मंदिरों में की चोरी, 2 गिरफ्तार:गुगल-मैप से मंदिर की लॉकेशन देखता, पुजारी की रेकी कर गहने-छत्र चुराता

जयपुर7 महीने पहले

जयपुर शहर में जैन मंदिरों में चोरी करने वाले शातिर को गलतागेट थाना पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने चोरी का माल खरीदने वाले साथी को भी पकड़ा है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से चोरी का माल भी बरामद किया है। फिलहाल गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

एसएचओ मुकेश कुमार ने बताया कि मामले में आरोपी सुमित अग्रवाल (42) निवासी स्वरूप विहार जगतपुरा रामनगरिया रोड हाल सुर्य विहार जगतपुरा रोड और मुकेश अग्रवाल उर्फ मोंटू अग्रवाल (38) निवासी नरवरपुरी कॉलोनी बास बदनपुरा गलतागेट को गिरफ्तार किया है। आरोपी सुमित अग्रवाल बी.कॉम तक पढ़ा है। वह अग्रवाल समाज सेवा समिति का केयर टेकर भी है। वह गुगल मैप से मंदिर को फोटो का अवलोकन करता।

मंदिरों में मूर्तियों के पास रखे हुए सोने-चांदी के गहने देखता। उसके बाद एक-दो दिन आकर मंदिर की रेकी कर पूजारी के आने-जाने का समय नोट करता। पुजारी के नही रहने पर चोरी की वारदात को अंजाम देता। जिसके बाद चोरी का माल साथी मुकेश अग्रवाल को बेच देता था। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से सोने की ललाट पट्‌टी, चांदी के 18 छत्र, 2 मुकुट, 2 कलश और 2 चम्मच बरामद की है।

परिवार रसूखदार फिर भी करता चोरी
पूछताछ में सामने आया है कि आरोपी का परिवार पैसे वाला और रसूखदार है। परिवार के जयपुर में ईटों के 3 भट्टे भी है। आचरण सही नहीं होने के कारण उसे खर्चे के लिए रुपए नहीं देते थे। शातिर दिमाग का फायदा उठाकर वह अपने परिवारजनों के खाली चैक लेकर उन पर हुबहु साइन कर बैंक से रुपए निकलवा लेता था। बैंक में चैक बॉक्स में पड़े चैक की फोटो लेकर थर्ड पार्टी की चैकबुक इश्यु करवा उनके बैंक अकाउंट से भी रुपए निकलवा लेता था। ऐसे 8 मुकदमों में वह पहले जेल भी जा चुका है। कोर्ट से उसके खिलाफ कोर्ट से 6 स्थाई वारंट भी जारी है।