• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • SHO Was Told On The Phone That The Commissioner Is My Friend, Stop Looking For The Car, The Car Was Blown Up To Teach A Lesson To The Daughter in law

सास ने चुराई बहू की कार:पुलिस ने पकड़ा तो धमकाने लगी: कमिश्नर मेरा दोस्त है, कार की तलाश बंद करो; बहू को पीटती थी

जयपुर4 महीने पहले

प्रॉपर्टी विवाद और बहू को सबक सिखाने के लिए सास ने उसकी कार ही चुरा ली। मामला थाने तक पहुंचा और जांच हुई तो इसका खुलासा हुआ। इससे पहले पुलिस को शक हुआ तो सास से कार के बारे में पूछा। इस पर सास नाराज हो गई और उल्टा एसएचओ को ही धमका दिया। फोन पर बोली कि कमिश्नर मेरा दोस्त है और कार की तलाश मत करना। पुलिस ने आस-पास के सीसीटीवी और मोबाइल लोकेशन की जांच की तो मामले का खुलासा हुआ।

मामला सुभाष चौक थाने का है। देवांशी चंचलानी (30) ने 31 दिसंबर को कार चोरी का मामला दर्ज करवाया था। देवांशी ने बताया कि घर के बाहर खड़ी उसकी कार चोरी हो गई। सुभाष चौक थानाधिकारी जयप्रकाश पूनिया ने बताया कि रितु चंचलानी (58) देवांशी की सौतेली सास है। देवांशी के पति की दो साल पहले मौत हो गई थी। इसके बाद से सौतेली सास ने परेशान करना शुरू कर दिया।

इनके बीच प्रॉपर्टी को लेकर भी विवाद था। इसी को लेकर सौतेली सास उसे बार-बार परेशान करती रहती थी। रितु को डर था कि प्रॉपर्टी में बहू को भी हिस्सा देना पड़ेगा। देवांशी ने बताया कि सास उसके कैरेक्टर पर भी कई बार गलत कमेंट करती थी। उसे बाहर जाने से रोकती और गंदे आरोप लगाती थी। देवांशी ने बताया कि वह कॉम्पिटिशन एग्जाम की भी तैयारी कर रही है। 27 दिसंबर को परीक्षा की तैयारियों को लेकर भला बुरा कहा। इसके बाद उसके साथ जमकर मारपीट की। इसके बाद वह 28 दिसंबर को कंवर नगर स्थित मायके आ गई। 30 दिसंबर को उसकी कार चोरी हो गई।

बहू मायके आई तो सबक सिखाने का प्लान बनाया
रितु को बहू के मायके जाने का पता चला तो सबक सिखाने के लिए कार चोरी करने की योजना बनाई। रितु ने 30 दिसंबर की रात 11 बजे अपने घर से देवांशी की कार की डुप्लीकेट चाबी ली और अपनी गाड़ी में एक ड्राइवर को लेकर देवांशी के पीहर पहुंच गई। रितु ने खुद की कार ड्राइवर के साथ भेज दी। रितु ने देवांशी की कार चुराई और मालवीय नगर आ गई। यहां एक मकान में कार को छिपा दिया।

सुभाष चौक थानाधिकारी जयप्रकाश पूनिया ने बताया कि जांच के दौरान देवांशी ने बताया था कि एक कार की चाबी उसके सास के पास है। पुलिस ने फोन कर कार के बारे में पूछा तो रितु कमिश्नर के नाम धमकाने लगी। इस पर पुलिस ने मोबाइल लोकेशन और आस-पास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। रितु को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया। चोरी की कार उसके पति के नाम होने की वजह से कोर्ट ने रितु को जमानत दे दी।

देवांशी के पति की दो साल पहले हो गई थी मौत, ससुर जेल में
देवांशी के पति नीरज चंचलानी की दो साल पहले किड़नी फैल होने से मौत हो गई थी। रितु चंचालनी सौतेली सास है। देवांशी का ससुर नकली दवाइयों के मामले में पिछले डेढ़ साल से जेल में बंद है। पहली पत्नी से एक बेटा और बेटी है। रितु के भी एक बेटा-बेटी है।

खबरें और भी हैं...