पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जेडीए की तैयारी:एक हजार कराेड़ के 7 नए प्राेजेक्ट, 22 माह में पूरे करने का सपना दिखाया, कैसे होंगे‌?

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 4 साल से अधूरे पड़े है 600 कराेड़ के 4 प्राेजेक्ट, लगातार बढ़ा रहे हैं डेडलाइन

(इमरान खान). राजधानी काे वर्ल्ड क्लास शहर बनाने का सपना दिखा रहा जेडीए कराेड़ाें रुपए खर्च नए प्राेजेक्ट लाने की तैयारी ताे कर रहा है लेकिन 600 कराेड़ रुपए खर्च कर बनाए जा रहे साल 2016-17 की बजट घाेषणा में शामिल साेड़ाला एलिवेटेड, झाेटवाड़ा, बस्सी और सीतापुरा आरओबी प्राेजेक्ट चार साल बाद भी आधे-अधूरे ही पड़े है।

ये प्राेजेक्ट शुरू ताे हुए लेकिन पूरे कब हाेंगे..इसका इंतजार करना पड़ेगा। एक तरफ लाॅकडाउन का बहाना कर जेडीए इन प्राेजेक्ट की डेडलाइन पर डेडलाइन बढ़ाए जा रहा है, दूसरी ओर शहर के चाैराहाें काे ट्रैफिक लाइट फ्री करने के एक हजार कराेड़ की लागत से 7 नए प्राेजेक्ट काे 22 महीने में ही पूरे करने के कागजी सपने दिखाने की तैयारी में जुट गया है।

साेढ़ाला एलिवेटेड: 250 कराेड रु पए खर्च कर अम्बेडकर सर्किल से साेड़ाला तक यानि 2.8 किमी तक बनने वाले इस एलिवेटेड राेड का काम 2016 में शुरू हुआ था। इस प्राेजेक्ट काे पूरा करने की पहली डेडलाइन जनवरी 2019 थी लेकिन कंपनी ने बाद में जेडीए से जून 2020 तक डेडलाइन बढ़वा ली। तब भी काम पूरा नहीं हुआ बाद में मार्च से लाॅकडाउन लग गया और अब फिर जेडीए ने कंपनी काे 30 जून 2021 तक काम पूरा करने की नई डेडलाइन दी है।

फिलहाल 80 फीसदी काम पूरा हुआ है। यदि यह प्राेजेक्ट समय पर पूर हाेता ताे साेड़ाला से अम्बेडकर सर्किल तक जाम की समस्या से निजात मिल सकता था लेकिन फिलहाल प्राेजेक्ट कंपलीट हाेने तक यहां राेजाना गुजरने वाले हजाराें वाहन चालकाें काे जाम परेशानी झेलनी ही पड़ेगी।

बस्सी और सीतापुरा प्राेजेक्ट भी अगले साल ही पूरे होंगे: साेड़ाला एलिवेटेड और झाेटवाड़ा आरओबी के साथ 60 कराेड लागत से बन रहे जयपुर-दिल्ली रेलवे लाइन बस्सी आरओबी और सीतापुरा रीकाे एरिया से महात्मा गांधी अस्पताल तक 116 कराेड की लागत से बनाए जा रहे सीतापुरा आरओबी की काम भी अगले साल ही पूरा हाेगा।

झाेटवाड़ा आरओबी : अभी तक 45 से 50% ही काम हुआ है

2016-17 की बजट घाेषणा का यह प्राेजेक्ट चार साल बाद भी अधूरा ही पड़ा है। 167 कराेड रुपए की लागत के इस प्राेजेक्ट का फिलहाल 45 से 50 फीसदी ही काम पूरा हाे पाया है। जेडीए अभी तक इस प्राेजेक्ट में आड़े आ रहे 604 स्ट्रक्चर हटा नहीं पाया है। इसके चलते अप एंड डाउन रैंप काम भी शुरू नहीं हुआ, केवल पिल्लर्स का काम जारी है। जून 2018 में शुरू हुए इस प्राेजेक्ट 2020 तक पूरा करना था लेकिन पिछलें महीने जेडीए ने इसकी डेडलाइन बढ़ाकर 31 दिसम्बर 2021 तक कर दी है।

बड़ा सवाल; आखिर 22 माह में कैसे पूरा हाेगा सपना?
यूूूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने हाल में शहर का दाैरा कर 7 बड़े चाैराहाें काे सिग्नल फ्री करने के 1 हजार कराेड़ के प्राेजेक्ट काे हरी झंडी दी है। जेडीए ने दावा किया है कि इन प्राेजेक्ट के लिए अधिकारियाें की कमेटी गठित बनाकर और बेस्ट इंजिनियर्स की टीम लगाकर मार्च-अप्रैल तक काम शुरू कर दिसम्बर- 2022 यानि 22 महीने में ही काम पूरा कर दिया जाएगा, जबकि इनमें से कई चाैराहाें पर ताे क्लाेवर लीफ, मल्टीलेवल एलिवेटेड, ओवर ब्रिज और अंडरपास तक का निर्माण करना है। अब यह कार्य 22 माह में कैसे पूरा होगा यह बड़ा सवाल है‌‌?

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser