पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Social Media Playing Social Responsibility; If You Are Getting Tips To Increase Immunity, Then You Are Also Giving Information About Vaccine Centers.

सामाजिक जिम्मेदारी निभा रहा सोशल मीडिया:इम्युनिटी बढ़ाने के नुस्खे मिल रहे तो वैक्सीन सेंटरों की जानकारी भी दे रहा

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अब लोगों को सूचनाएं देकर मददगार बन रहे सोशल प्लेटफॉर्म... सूचनाओं का अहम स्रोत बना है। - Dainik Bhaskar
अब लोगों को सूचनाएं देकर मददगार बन रहे सोशल प्लेटफॉर्म... सूचनाओं का अहम स्रोत बना है।

फर्जी वीडियो और पोस्ट के नाम से बदनाम हो चुका सोशल मीडिया अब कोरोना में लोगों के लिए मददगार बन रहा है। लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से कोरोना के संक्रमण होने पर ठीक होने के नुस्खे, इसके बचने और वैक्सीन सेंटरों के बारे में जानकारी मिल रही है। इतना ही नहीं आर्थिक तंगी से परेशान लोगों को भी मदद मिल रही है।

केस 1- रामगढ़ मोड निवासी हनुमान प्रसाद ने बताया कि वे कई दिनों से वैक्सीन के लिए सेंटर तलाश रहे थे। उन्हें पता नहीं था कि घर के पास में कौन-सा सेंटर है। मेरे मित्र प्रदीन ने मुझे वॉट्सएप पर क्षेत्र की डिस्पेंसरियों की सूची भेजी, जहां वैक्सीन लग रही है। मेरे पास में गोविंद नगर डिस्पेंसरी थी तो मुझे वहां वैक्सीन लग गई।

केस 2- प्रमिला नागर ने बताया कि उनके पति जवाहर सर्किल स्थित निजी अस्पताल में कोरोना संक्रमण से भर्ती हैं। अस्पतालों ने रेमडेसिविर की डिमांड कर दी। मुझे जानकारी नहीं थी कि कैसे और कहां मिलता है। पड़ोसी ने मुझे जिला प्रशासन की ओर से जारी अधिसूचना भेजी, जिसके जरिए मुझे रेमडेसिविर मिल गया।

केस 3- झोटवाड़ा निवासी रमेश चंद्र ने बताया कि मेरे भाई 14 दिन पहले कोरोना पॉजिटिव आ गए। उन्हें ऑक्सीजन की जरूरत होने लगी। ऐसे में समझ में नहीं आ रहा था कि इस मारामारी में किस अस्पताल में ले जाए। इस संबंध में मेरे मित्र घनश्याम से बात की।

उन्होंने मुझे शहर के अस्पतालों में खाली बैड का वेबसाइट से स्क्रीन शॉट लेकर वाट्स अप पर भेजा, जिसमें मोबाइल नंबर भी थे। बात करने पर पता चला की घर से 5 किमी दूर ही निजी अस्पताल में खाली बैड मिल गया। भाई को भर्ती कराया, तब जाकर सांस में सांस आई।

खबरें और भी हैं...