गड़बड़ी / फर्जी आधार पर चार सालमें गरीबों का 20 टन गेहूं बाजार में बेच डाला, विशेष श्रेणी में नाम जुड़वाने पहुंचे तो पता चला

Sold 20 tonnes of wheat to the poor in four years on bogus basis, when we reached to add names in special category, it was found out
X
Sold 20 tonnes of wheat to the poor in four years on bogus basis, when we reached to add names in special category, it was found out

  • जिला कलेक्टर डा. जोगाराम ने कहा है कि मामले की जांच् कराई जाएगी और गबन करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:25 AM IST

जयपुर. मानसरोवर, शास्त्रीनगर एवं हसनपुरा में फर्जी आधार कार्ड से गरीबों में बंटने वाले गेहूं के गबन का मामला सामने आया है। पिछले चार साल से राशनकार्डधारियों को पता ही नहीं कि उनके नाम से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के तहत मिलने वाला गेहूं कोई और ही उठा रहा है। यही नहीं, डीलर्स ने लॉकडाउन के दौरान गरीबों के लिए मुफ्त में दिए जाने वाले गेहूं भी नहीं छोड़ा। लॉकडाउन के दौरान सरकार ने गरीब परिवारों को दो का गेहूं फ्री देने का एलान किया था। इसकी पड़ताल करने ही राशनकार्ड धारी डीलर्स के पास पहुंचे थे। तब कहीं जाकर इसका खुलासा हुआ। इस मामले में जिला कलेक्टर डा. जोगाराम ने कहा है कि मामले की जांच् कराई जाएगी और गबन करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी।

नए राशन कार्ड बनने के बाद वर्ष 2015-16 में गरीब परिवारों ने खाद्य सुरक्षा में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन किया था। उस वक्त कई परिवारों के नाम नहीं जोड़े गए, लेकिन डीलरों ने जो आवेदन किए थे। उन्हीं लोगों के राशन कार्ड नंबर से फर्जी आधार नंबर जोड़कर गेहूं का गबन करना शुरू कर दिया।
अब तक सामने आए मामले
मानसरोवर रजत निवासी कैलाश शर्मा के परिवार में पांच सदस्य का राशन कार्ड नंबर 2801915 बना हुआ है। राशन कार्ड से फर्जी आधार नंबर जोड़कर 2016 से मानसरोवर की दुकान नंबर 584ए, 588बी ,586 से गेहूं उठाया जा रहा है।
मानसरोवर निवासी आसन दास के राशन कार्ड 1885717 का उसी नाम पते से फर्जी राशन कार्ड 2701393 बनाकर 4 साल से दुकान नंबर 586 से गेहूं का गबन किया जा रहा है। प्रताप सिंह राशन कार्ड 119002801015, रामेश्वर प्रसाद 119002801038, किरण शर्मा 119002801004 के राशन कार्ड से दुकान नम्बर 586 व 588 बी से राशन का गेहूं गबन किया जा रहा है।
शांति नगर हसनपुरा निवासी राजेंद्र कुमार खंडेलवाल का पांच सदस्यों का राशन कार्ड 04475 है। उनके राशन कार्ड से 2016 से हसनपुरा में दुकान नंबर 428, 379, 380, 382 और 457 से बारी-बारी से गेहूं का गबन उठाया गया। शास्त्री नगर निवासी सुरेश का कार्ड 11962806327 का गेहूं कोई और उठा रहा है।
गबन करने वालों पर केस दर्ज कराएंगे : कलेक्टर
सवाल : डीलर ही गरीबों का राशन खा रहे हैं, प्रशासन क्या कर रहा है ?
कलेक्टर : गबन करने वाले डीलर्स का लाइसेंस निलंबित कर एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी।
सवाल : जिले में दो डीएसओ एवं 13 इंस्पेक्टर लगे हैं, फिर भी डीलर मनमानी कर रहे हैं?
कलेक्टर : राशन कार्ड की उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर एवं आधार कार्ड का मिलानकर जांच इंस्पेक्टर्स से करवाई जा रही है।
सवाल : गबन करने वालों ने फर्जी आधार तक राशन कार्ड से जोड़ लिया, कोई क्या करे?
कलेक्टर : उपभोक्ता को कहीं भी कोई दिक्कत हो तो कलेक्ट्रेट या कंट्रोल रूम में शिकायत कर सकते हैं। हम जरूरतमंदों को राशन दिलाने के लिए संकल्पित हैं। किसी से साथ अन्याय नहीं होगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना