पिता के नक्शे-कदम पर बेटा:स्टेट वॉलीबॉल में एक ही टीम से खेले, पिता भारतीय वॉलीबॉल के सर्वेसर्वा और बेटा इंटरनेशनल प्लेयर

जयपुरएक महीने पहलेलेखक: संजीव गर्ग
  • कॉपी लिंक
51 साल के पिता रामावतार और 18 साल के पुत्र दुष्यंत करौली में राजस्थान स्टेट चैंपियनशिप में एसबीआई की टीम से खेल रहे हैं। - Dainik Bhaskar
51 साल के पिता रामावतार और 18 साल के पुत्र दुष्यंत करौली में राजस्थान स्टेट चैंपियनशिप में एसबीआई की टीम से खेल रहे हैं।

बेटा यदि पिता के नक्शे-कदम पर चले और बुलंदियां छुए तो पिता के लिए इससे बड़ी खुशी की बात और दूसरी क्या हो सकती है। रामावतार जाखड़ को यही खुशी मिली है। रामावतार इंटरनेशनल वॉलीबॉल प्लेयर और भारतीय वॉलीबॉल के सर्वेसर्वा रहे हैं। अभी भारतीय वॉलीबॉल संघ के सीईओ, एशियन वॉलीबॉल कंफेडरेशन के अध्यक्ष, राजस्थान वॉलीबॉल संघ के महासचिव और राजस्थान राज्य ओलिंपिक संघ के नवनिर्वाचित अध्यक्ष हैं। खास बात यह है कि पहली बार पिता-पुत्र दोनों एक ही टीम में खेल रहे हैं।

साथ खेल कर दिल खुश हो गया: रामावतार
51 साल के पिता रामावतार और 18 साल के पुत्र दुष्यंत करौली में राजस्थान स्टेट चैंपियनशिप में एसबीआई की टीम से खेल रहे हैं। रामावतार एसबीआई-जयपुर में अधिकारी हैं। उनकी टीम भी इस चैंपियनशिप में खेल रही है। संस्थान की टीम में तीन गेस्ट प्लेयर्स को खिलाने का नियम है। इसलिए बेटे दुष्यंत को भी उन्होंने अपनी ही टीम से खिलाया। रामवतार कहते हैं, साथ खेल कर दिल खुश हो गया। खुशी यह है कि दुष्यंत खुद को प्रूव कर रहा है। उम्मीद है, वह भारतीय वॉलीबॉल टीम का प्रमुख खिलाड़ी बनकर उभरेगा।

इच्छा थी कि पापा के साथ खेलूंगा, वह पूरी हुई: दुष्यंत
दुष्यंत ने कहा, पिछले साल मैं पापा के खिलाफ खेला था। 50 साल की उम्र में भी पापा बहुत अच्छा खेलते हैं। उनकी एसबीआई टीम पिछली बार चैंपियन बनी थी। इस बार हम एक ही टीम में हैं। दोनों सेंटर ब्लॉकर खेल रहे हैं। अच्छा तालमेल है। मन में इच्छा थी कि कभी पापा के साथ खेलूंगा, वह पूरी हुई। एसबीआई की टीम ने क्वार्टर फाइनल मुकाबला जीत कर सुपर लीग में प्रवेश कर लिया था। सुपर लीग के मैच में एसबीआई को ऑयल इंडिया से 3-1 से हार का सामना करना पड़ा।

जाखड़ का पूरा परिवार खेलता है वॉलीबॉल
जाखड़ का पूरा परिवार वॉलीबॉल खेलता है। दुष्यंत की मां स्टेट लेवल वॉलीबॉल प्लेयर रहीं हैं। सीकर से खेलती थीं। बहन 2014 में फिलिपींस में हुई जूनियर एशियन चैंपियनशिप में खेलीं। नेशनल लेवल की प्लेयर रहीं हैं। लेकिन अब एमबीबीएस डॉक्टर बन गई हैं। दुष्यंत ने पिछले महीने ईरान में जूनियर विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लिया था। जूनियर नेशनल और सीनियर स्टेट खेल चुके हैं।