राजस्थान LIVE अपडेट्स:महिला समेत 2 तीर्थयात्रियों की तेज रफ्तार वैन ने ली जान, कोटा का पार्षद सस्पेंड, भाजपा-कांग्रेस की रैलियों पर रोक की याचिकाएं खारिज

जयपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

एक महिला समेत दो तीर्थयात्रियों को एक तेज रफ्तार वैन ने जान ले ली। दोनों सड़क किनारे खड़े थे। हादसा पाली जिले के बाली थाना क्षेत्र के कोट बालियान गांव का है। हादसे में वैन ड्राइवर भी घायल हो गया। वहीं, कोटा के एक पार्षद को घूस लेने की एवज में निलंबित कर दिया गया है। वहीं, राजस्थान हाईकोर्ट ने भाजपा-कांग्रेस की रैलियों पर रोक की अर्जी खारिज कर दी है।

कहीं से रात को 3 बजे बस स्टैंड पर उतरे थे दोनों

दरअसल, गुरुवार रात करीब तीन बजे धणी गांव निवासी 75 वर्षीय सुखीदेव व कोट बालियान गांव निवासी 65 वर्षीय वेलाराम माली सड़क किनारे खड़े थे। बाली SHO देवेन्द्र सिंह ने बताया कि गुरुवार रात करीब तीन बजे कोट बालियान बस स्टैंड पर उतरे। इस दौरान सादड़ी की तरफ से तेज रफ्तार से आ रही वैन ने दोनों को टक्कर मार दी। हादसे में दोनों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। हादसे में वैन ड्राइवर नरपत घायल हो गया। जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया। पुलिस ने शुक्रवार को पोस्टमार्टम करने के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया।

घूस लेने में नपा कोटा का एक पार्षद, निलंबन के जारी हुए आदेश
कोटा नगर निगम दक्षिण के एक पार्षद को निलंबित किया गया है। वार्ड 10 के पार्षद कमल मीणा को नगर पालिका अधिनियम के तहत कार्रवाई करते हुए स्वायत्त शासन विभाग ने निलंबित करने के आदेश जारी किए है। कमल मीणा पर ये कार्रवाई रिश्वत प्रकरण में संलिप्तता पाए जाने पर की गई है। कमल मीना कांग्रेस के टिकट पर पार्षद का चुनाव जीता था।

आरोपी कमल मीणा सस्पेंड कर दिया गया।
आरोपी कमल मीणा सस्पेंड कर दिया गया।

आरोपी को 5 हजार रिश्वत लेते एसीबी ने पकड़ा था

कमल को पांच हजार की रिश्वत लेते एसीबी ने पकड़ा था। निलंबित करने के आदेश में कहा गया है कि कमल मीणा पद पर रहते हुए जांच और गवाहों को प्रभावित कर सकते है। ऐसे में उन्हें तुरंत प्रभाव से निलंबित किया जाता है।

भाजपा-कांग्रेस की हो सकेंगी रैलियां, रद्द कराने की अर्जियां खारिज

राजस्थान हाईकोर्ट ने जयपुर में होने वाली बीजेपी और कांग्रेस की रैलियां रद्द कराने की मांग को लेकर लगी याचिकाएं खारिज कर दी हैं। हाईकोर्ट के जस्टिस एमएम श्रीवास्तव की कोर्ट ने 5 दिसम्बर को अमित शाह के रोड शो और कांग्रेस की 12 दिसम्बर को रैली पर रोक लगाने की दो याचिकाओं पर शुक्रवार को सुनवाई थी। कोर्ट ने कहा कि मामला जनहित का नहीं है। इस फैसले के बाद अब दोनों पार्टियों ने रैलियों की तैयारियां तेज कर दी हैं।