पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इनोवेशन इंडेक्स:पीएचडी, टेक्नोलॉजी एंड इंजीनियरिंग के एनरोलमेंट में प्रदेश पीछे, स्कूल शिक्षा में हम ज्यादा मजबूत

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • नीति आयोग ने जारी की रिपोर्ट, आईसीटी लैब और एनएएस स्कोर में राजस्थान का बेहतर प्रदर्शन

पीएचडी और टेक्नोलॉजी व इंजीनियरिंग के प्रति छात्रों का रुझान बढ़ाने में प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था बेहतर साबित नहीं हो पा रही है। यही कारण है कि नीति आयोग की ओर से जारी इंडिया इनोवेशन इंडेक्स-2020 में पीएचडी, टेक्नोलॉजी व इंजीनियरिंग में एनरोलमेंट के स्टेट्स में प्रदेश को अंडर परफॉर्मिंग राज्य का दर्जा मिला है।

दूसरी ओर, स्कूलों में आईसीटी लैब स्थापित करने और कक्षा दसवीं के नेशनल अचीवमेंट सर्वे स्कोर में राजस्थान ओवर परफॉर्मिंग स्टेट बना है। नीति आयोग ने 7 पैरामीटर्स पर प्रदेश की स्थिति का आंकलन किया है। सबसे कम अंक उच्च शिक्षण संस्थानों की नैक ग्रेड को मिले हैं। प्रदेश के बहुत कम संस्थानों के पास नैक की ए ग्रेड है।

जीरो से 100 स्केल पर किए गए इस आंकलन में प्रदेश के संस्थानों को नैक की ए ग्रेड में मात्र 1.27 अंक ही मिल पाए हैं। कई संस्थानों की नैक की ग्रेड एक्सपायर होने के बावजूद उन्होंने नैक की विजिट के लिए दोबारा आवेदन नहीं किया। ये आंकड़े बताते हैं कि उच्च शिक्षा में प्रदेश की स्थिति अच्छी नहीं है। हालांकि स्कूल शिक्षा में राज्य में बेहतर काम हुआ है। स्कूलों में छात्र शिक्षक अनुपात में प्रदेश की व्यवस्था को 100 में से 65.31 अंक दिए गए हैं। इन सभी पैरामीटर्स को ह्यूमन कैपिटल की श्रेणी में शामिल किया गया है।

देश की हायर एजुकेशन पर मात्र 7.10 प्रतिशत का खर्चा
सेक्टर वाइज रिसर्च एंड डेवलपमेंट पर खर्चे की बात की जाए तो रिपोर्ट के अनुसार भारत 56.11 प्रतिशत राशि सरकारी क्षेत्र, 36.76 बिजनेस इंटरप्राइजेज और मात्र 7.10 प्रतिशत हायर एजुकेशन को दे रहा है। इस कारण हायर एजुकेशन में रिसर्च की स्थिति बेहतर नहीं है। राज्यवार इनोवेशन की सूची में कर्नाटक 42.50 स्कोर के साथ टॉप पर है। वहीं राजस्थान 20.82 के स्कोर के साथ 12वें स्थान पर है। बिहार की भी स्थिति अच्छी नहीं है।

रिसर्च एंड डेवलपमेंट के लिए कम बजट
यूनेस्को इंस्टीट्यूट ऑफ स्टेटेस्टिक्स 2020 की रिपोर्ट के अनुसार भारत अपनी कुल जीडीपी का मात्र 0.64 प्रतिशत ही रिसर्च पर खर्च करता है। दूसरी ओर, भारत से काफी छोटा देश इजराइल आरएंडडी पर सबसे अधिक 4.95 प्रतिशत खर्च कर रहा है। साउथ कोरिया, स्वीडन, जापान और ऑस्ट्रिया भी इस मामले में हमसे आगे हैं। हालांकि ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स (जीआईआई) में देश की स्थिति सुधर रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें