दो-तीन दिन में मिलेगा 20 रैक कोयला:प्रदेश के बिजलीघरों को दो-तीन दिन में मिलेगा 20 रैक कोयला, बिजली उत्पादन 7 दिन में 1455 मेगावाट बढ़ा

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिजली की कुल शॉर्टेज 3.5 करोड़ यूनिट, 2 करोड़ यूनिट खरीदी जा रही, जबकि कटौती डेढ़ करोड़ यूनिट

प्रदेश के बिजलीघरों को 2-3 दिन बाद 20 रैक कोयला मिलने लगेगा। इसके बाद सूरतगढ़ थर्मल पावर प्लांट की सभी यूनिट से बिजली उत्पादन हो जाएगा। प्रदेश में पिछले 7 दिन में कोयला सप्लाई बढ़ने के बाद तीन थर्मल पावर प्लांट से 1455 मेगावाट बिजली का उत्पादन बढ़ गया है। फिलहाल प्रदेश में रोजाना 23.5 करोड़ यूनिट बिजली सप्लाई की जा रही है।

कुल शॉर्टेज करीब 3.5 करोड़ यूनिट है, इसमें से 2 करोड़ यूनिट बिजली एक्सचेंज से खरीदी जा रही है तथा करीब डेढ़ करोड़ यूनिट बिजली कटौती की जा रही है। इससे कस्बों व गांवों में दो से पांच घंटे की बिजली कटौती जारी है। ऊर्जा विभाग के एसीएस सुबोध अग्रवाल की कोयला मंत्रालय व कोल इंडिया के अधिकारियों से मुलाकात के बाद कोयला रैक बढ़े हैं। राज्य में बिजली की 9916 मेगावाट उपलब्धता रही, जबकि 10790.33 मेगावाट औसत मांग व 12779 मेगावाट अधिकतम मांग रही है।

केंद्र की नीति से हुआ कोयला संकट, एग्रीमेंट 11.5 रैक कोयला प्रतिदिन, आपूर्ति 5.38

ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला का कहना है कि कोल इंडिया लि. ने ‘इंपोर्ट सब्स्टीट्यूशन मैकेनिज्म’ के तहत भी काफी मात्रा में कोयला दिया है, जिसके चलते जिन विद्युतगृहों का अनुबंध कोल इंडिया द्वारा कोयला आपूर्ति का था। इससे कोयला संकट हुआ है। कोल इंडिया की दो कंपनियों एनसीएल तथा एसईसीएल के साथ राजस्थान का प्रतिदिन 11.5 रैक कोयले की आपूर्ति का एग्रीमेंट है।

मगर औसतन 5.38 रैक प्रतिदिन सप्लाई की जा रही है। इस कारण बिजलीघरों पर कोयला स्टॉक नहीं रह पाया। नेशनल कोलफिल्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) का कोई पैसा बकाया नहीं है, इस कंपनी को सितंबर-2021 से अग्रिम भुगतान कर दिया। दूसरी कंपनी एसईसीएल ने 252.61 करोड़ बकाया बताया है, जबकि 2015-16 के कोयले की गुणवत्ता में कमी का 459 करोड़ रुपये का भुगतान एसईसीएल को करना है।

सूरतगढ़, कोटा, कालीसिंध की एक-यूनिट में उत्पादन बढ़ा
ऊर्जा विभाग के एसीएस सुबोध अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की नियमित मॉनिटरिंग व निर्देशों के बाद सूरतगढ़ थर्मल पावर प्लांट की यूनिट 7 में 660 मेगावाट, कोटा थर्मल पावर प्लांट की यूनिट 6 में 195 मेगावाट और कालीसिंध थर्मल पावर प्लांट यूनिट 2 में 600 मेगावाट का बिजली उत्पादन शुरू हो गया है।

खबरें और भी हैं...