पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राजस्थान रोडवेज में मुफ्त यात्रा बनी जानलेवा:खचाखच भरी बसों में छात्रों को नहीं मिल पाई जगह, बसों की छत पर बैठकर और गेट से लटक कर किया सफर

जयपुर13 दिन पहले

राजस्थान सरकार द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्रों को रोडवेज की बसों में फ्री परिवहन की सुविधा दी गई थी। यह सुविधा अब छात्रों के लिए दुविधा में तब्दील हो गई है। रविवार को जयपुर में नीट परीक्षा थी, वहीं सोमवार से पुलिस सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा शुरू होने जा रही है। ऐसे में हजारों की संख्या में छात्र रोडवेज बसों में परिवहन कर रहे हैं, लेकिन चुनिंदा बसों की वजह से इनकी परेशानी बढ़ गई है।

बस में जगह नहीं मिलने पर छत पर चढ़कर यात्रा करते छात्र।
बस में जगह नहीं मिलने पर छत पर चढ़कर यात्रा करते छात्र।

राजधानी जयपुर में सिंधी कैंप बस स्टैंड पर निशुल्क परिवहन की वजह से हजारों की संख्या में छात्र पहुंचे हैं, लेकिन खचाखच भरी बसों ने छात्रों को मायूस कर दिया। कई छात्रों ने परिवहन के साधनों में बदलाव किया, तो कुछ छात्र बस अड्डे पर ही खाली बस आने का इंतजार करते नजर आए।

जगह नहीं मिलने पर बस में लटककर सफर करते छात्र।
जगह नहीं मिलने पर बस में लटककर सफर करते छात्र।

सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर उड़ी धज्जियां
रोडवेज की बसों में निशुल्क परिवहन की सुविधा के बाद बड़ी संख्या में छात्र निशुल्क यात्रा करना चाहते हैं। इस वजह से 52 सीटर बसों में 100 से ज्यादा छात्र बैठ गए। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ती नजर आई, लेकिन जब छात्र बस के अंदर नहीं बैठ पाए तो कुछ ने अपनी जान जोखिम में डालकर बस की छत पर बैठ गए। इन्हें रोकने के लिए न तो रोडवेज प्रबंधन आगे आया और न ही पुलिस प्रशासन। ऐसे में मुफ्त यात्रा की सौगात छात्रों की जान का खतरा बनती नजर आ रही है।

टिकट काउंटर पर सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां।
टिकट काउंटर पर सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां।

अलवर के प्रदीप ने बताया कि सरकार द्वारा छात्रों को सुविधा तो दी गई, लेकिन इसके लिए पुख्ता व्यवस्था नहीं की गई। इसकी वजह से अब छात्रों को दर-दर की ठोकर खाने को मजबूर होना पड़ रहा है। वहीं भरतपुर की पुष्पा ने कहा कि हर बार की तरह इस बार भी सरकारी लापरवाही का खामियाजा आम आदमी को उठाना पड़ रहा है। ऐसे में सरकार को हर निर्णय से पहले आत्म चिंतन करना चाहिए। ताकि सरकारी भूल आम आदमी के लिए परेशानी का कारण न बने।

बस में जगह नहीं मिलने पर ड्राइवर को बाहर निकालकर अंदर घुसते छात्र।
बस में जगह नहीं मिलने पर ड्राइवर को बाहर निकालकर अंदर घुसते छात्र।
सिंधी कैंप बस स्टैंड पर जुटी भीड़।
सिंधी कैंप बस स्टैंड पर जुटी भीड़।
बस में जगह नहीं मिलने पर केबिन में घुसे छात्र।
बस में जगह नहीं मिलने पर केबिन में घुसे छात्र।
बस में जगह नहीं मिलने पर अपनी बारी का इंतजार करते हताश छात्र।
बस में जगह नहीं मिलने पर अपनी बारी का इंतजार करते हताश छात्र।
खबरें और भी हैं...