पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

PM मोदी ने डॉ. पानगड़िया का हेल्थ बुलेटिन पूछा:इटर्नल हॉस्पिटल की को-चेयरपर्सन से फोन पर की बात; विदेशों से दवाइयां मंगवाकर एक्सपर्ट डॉक्टर्स की टीम कर रही है इलाज

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉ. पानगड़िया पूर्व राष्ट्रपति के साथ। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
डॉ. पानगड़िया पूर्व राष्ट्रपति के साथ। फाइल फोटो

प्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. अशोक पानगड़िया की तबीयत के बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जानकारी ली। मोदी ने इटर्नल हॉस्पिटल की को-चेयरपर्सन मंजू शर्मा से फोन पर बात की और डॉ. पानगड़िया की तबीयत के संबंध में पूछा। वहीं डॉक्टरों ने पानगड़िया की हालत को अभी स्थिर बताया है। हालांकि ये उम्मीद जताई जा रही है कि वे धीरे-धीरे रिकवर होने लगेंगे। रविवार सुबह परिवार के लोगों ने बताया कि अभी हालत वैसी ही है।

इससे पहले गुरुवार देर रात से सोशल मीडिया पर डॉ. पानगड़िया के देहांत की खबरें तेजी से वायरल हो रही थी। राज्य के कुछ नेताओं के सोशल मीडिया एकाउंट से तो पानगड़िया के देहांत का शोक भी व्यक्त कर दिया था, हालांकि बाद में ऐसी पोस्ट को हटा दिया गया था। इसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने सोशल मीडिया पर चली गलत खबरों का खंडन करते हुए उनका हेल्थ बुलेटिन जारी किया।

इसमें बताया कि उनका उपचार कर रही डॉक्टर्स की टीम का कहना है कि डॉ. पानगड़िया की लगातार देखरेख की जा रही है और उन्हें देश-विदेश से भी कुछ एंटीबायोटिक्स मंगवाकर दी जा रही हैं। उनकी स्थिति नियंत्रण में है। उनका ट्रीटमेंट सीनियर क्रिटिकल केयर एक्सपर्ट डॉ. किशोर मंगल, सीनियर नेफ्रोलॉजिस्ट डॉ. एके शर्मा, चेयरमैन मेडिसिन एंड रिसर्च डॉ. राजीव गुप्ता, सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. जितेंद्र मक्कड़ और सीनियर एंडोक्राइनोलॉजिस्ट डॉ. शैलेष लोढ़ा की देख-रेख में चल रहा है।

आपको बता दें डॉ. पानगड़िया को कोरोना से ठीक होने के बाद पोस्ट कोविड तकलीफ के चलते RUHS से जयपुर के EHCC अस्पताल में शिफ्ट किया था। संक्रमण के कारण उनके लंग्स (फेंफड़े) ज्यादा डेमेज हो गए थे, जिसके कारण उनकी स्थिति बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें इसी सप्ताह उपचार के लिए वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया है।

खबरें और भी हैं...