अवैध पार्किंग से कमाई का चौड़ा रास्ता:टेंडर 22 मई को खत्म लेकिन पुरानी फर्म की वसूली जारी

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कर्मचारी को व्यापारियों ने पकड़ा, कहा-निगम में सुनवाई ही नहीं है - Dainik Bhaskar
कर्मचारी को व्यापारियों ने पकड़ा, कहा-निगम में सुनवाई ही नहीं है

चौड़ा रास्ते में वाहनों की पार्किंग का टेंडर रविवार काे समाप्त हाे गया। नए टेंडर के वर्क ऑर्डर नहीं हाेने के बावजूद साेमवार काे पुरानी फर्म के कर्मचारी द्वारा पार्किंग शुल्क वसूला जा रहा है। चौड़ा रास्ता व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने सोमवार को वसूली करते हुए कर्मचारी काे पकड़ लिया। व्यापारियों का कहना है कि इसकी सूचना निगम आयुक्त काे देने के लिए फाेन किया लेकिन उन्होंने फाेन रिसीव नहीं किया।

चौड़ा रास्ते में वाहनों की पार्किंग का नया टेंडर 46.24 लाख रुपए में पुरानी फर्म ने ही उठाया है। निगम ने साेमवार तक पार्किंग के वर्क ऑर्डर नहीं किए। इसके चलते पार्किंग शुल्क वसूलना गैर कानूनी है। चाैड़ा रास्ता व्यापार मंडल के महासचिव विवेक भारद्वाज का आरोप है कि व्यापारी पुराने ठेकेदार काे दोबारा पार्किंग का ठेका देने का लगातार विरोध कर रहे हैं लेकिन निगम अधिकारी सुनवाई नहीं कर रहे।

पूल बनाकर पिछले साल के मुकाबले 8 लाख रुपए कम में उठाया पार्किंग ठेका
पिछले साल 54 लाख में टेंडर हुआ था, जबकि इस बार पूल बनाकर 8 लाख कम यानी 46 लाख में टेंडर हुआ है। व्यापारियों का आरोप है कि टेंडर लेने के बाद छाेटे-छाेटे टुकड़ों में इसे सबलेट कर दिया जाता है। बाजार में काराें काे 45 डिग्री में खड़ी नहीं करवाकर सीधी खड़ी करवाई जाती है। मॉनिटरिंग नहीं हाेने से मनमर्जी करते हैं। पार्किंग निरस्त करने काे लेकर मेयर, निगम आयुक्त और डीएलबी डायरेक्टर काे शिकायत भेजी है। मेयर मुनेश गुर्जर का कहना है कि विरोध के चलते पार्किंग के वर्क ऑर्डर नहीं किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...