कॉन्स्टेबल भर्ती पर्चा लीक, सवालों के घेरे में पूरा सिस्टम:बोर्ड ने करोड़ों कमाए, हर भर्ती में नेटबंदी... फिर भी ठगे गए 70 लाख बेरोजगार

जयपुर3 महीने पहले
यह तस्वीर है जयपुर के सिंधी कैंप बस स्टैंड की। अभ्यर्थियों ने लू और भीषण गर्मी में इस तरह रात काटी। लाखों रुपए खर्च किए, भूखे-प्यासे घंटों जाग-जागकर एग्जाम की तैयारी की... नतीजा एक और पर्चा लीक।

राजस्थान में कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर रद्द होने के बाद पूरा सिस्टम फिर सवालों के घेरे में आ गया है। एग्जाम कैंसिल होने के बाद दैनिक भास्कर रिपोर्टर ने जाना कि आखिर चूक कहां हो रही है। इन्वेस्टिगेशन में सामने आया कि 4 साल में 7 भर्तियां रद्द हो चुकी हैं।

राजस्थान पुलिस की कांस्टेबल से लेकर सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षाएं विवादों में रही हैं। यहां तक कि परीक्षाओं में नेट बंद करने का सिलसिला भी पहली बार 2018 में हुई कांस्टेबल भर्ती से ही शुरू हुआ था। पिछले 4 सालों में रीट 2021, पटवारी, आरएएस, लाइब्रेरियन, जेईएन, फार्मासिस्ट सहित कई परीक्षाएं विवादों के घेरे में आ चुकी हैं।

एक स्टूडेंट एक परीक्षा की तैयारी में डेढ़ लाख रुपए खर्च करता है। इन परीक्षाओं की बदौलत बोर्ड करोड़ों रुपए कमा रहा है। फिर भी हर भर्ती के बाद अभ्यर्थियों के साथ छलावा हुआ है। उन बेरोजगार के साथ जो घर से दूर छोटे-छोटे कमरों में कई सालों से तैयारी कर रहे हैं। बेरोजगारों ने किताबें, किराए के कमरे से लेकर खाने, परीक्षा फॉर्म से लेकर 300 किमी दूर परीक्षा देने तक लाखों रुपए खर्च किए।

परीक्षा के नाम पर महिलाओं के गहने, सुहाग की निशानी और साड़ियां तक उतरवाई जा रही हैं, तो वहीं लड़कों को बनियान में परीक्षाएं दिलवाई गईं। फिर भी पेपर आउट होने का सिलसिला और फर्जीवाड़ा रुक नहीं रहा है। परीक्षा देने से पहले हादसों में 6 अभ्यर्थियों की मौत तक हो गई।

चार साल में ये परीक्षाएं रही विवादों में

रीट भर्ती : राजस्थान बोर्ड ने 26 सितंबर 2021 को परीक्षा आयोजित की थी। 16 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी। 26 लाख ने आवेदन किया था। जांच में पता लगा था कि तीन दिन पहले ही सेंटर से ही पेपर आउट कर दिया गया। इंटरनेट बंद होने के बाद भी पेपर डेढ़ घंटे पहले ही लोगों के मोबाइल में पहुंच चुका था। 25 अधिकारी व कर्मचारी सस्पेंड किए गए। 80 से ज्यादा लोग गिरफ्तार किए गए थे।

पटवारी भर्ती : कर्मचारी चयन बोर्ड ने 5378 पदों के लिए 23 व 24 अक्टूबर 2021 को परीक्षा कराई थी। डमी अभ्यर्थी बैठकर नकल कराने के मामले सामने आए। भर्ती में 50 से ज्यादा गिरफ्तारी हुई। भर्ती को लेकर काफी विवाद हुए थे। इसमें 15 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था।

जेईएन भर्ती : कर्मचारी चयन बोर्ड ने 533 पदों के लिए परीक्षा आयोजित कराई थी। 6 दिसम्बर 2020 को पेपर आउट होने पर रद्द कर दी गई। तब 12 सितम्बर को दोबारा से परीक्षा आयोजित कराई थी। भर्ती के लिए 58 हजार आवेदन हुए थे।

लाइब्रेरियन भर्ती : कर्मचारी चयन बोर्ड ने 700 पदों के लिए 29 दिसम्बर 2019 को परीक्षा कराई थी। दो घंटे पहले ही पेपर आउट हो गया था। बोर्ड ने पेपर को आउट माना। दोबारा से 19 सितम्बर 2020 को परीक्षा कराई गई थी।

फार्मासिस्ट भर्ती : कर्मचारी चयन बोर्ड ने 1736 पदों के लिए फार्मासिस्ट भर्ती निकाली। भर्ती की परीक्षा कराने के लिए 5 बार घोषणा की गई। लेकिन परीक्षा कभी नहीं कराई जा सकी। बाद में नए सिरे से प्रक्रिया शुरू करने की बात बोलकर परीक्षा को निरस्त कर दिया गया।

चिकित्सा भर्ती : आरयूएचएस की ओर से जून 2020 में दो हजार पदों पर चिकित्सा भर्ती निकाली गई थी। भर्ती में दो बार ऑनलाइन परीक्षा में तकनीकि खामी के चलते परीक्षा रद्द करनी पड़ी। तीसरी बार परीक्षा कराई गई।

चार साल में कितने स्टूडेंट पर पड़ा असर
पिछले चार साल में 6 बड़ी भर्तियों के अलावा आरएएस भर्ती, शिक्षा सहायक, असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती, लैब टेक्नीशियन, सहायक रेडियोग्राफर, ईसीजी टेक्नीशियन, स्कूल व्याख्याता, प्री प्राइमरी शिक्षक के साथ कई भर्ती विवादों में आ चुकी है। अकेले रीट में 26 लाख आवेदन आए, कांस्टेबल में 18 लाख, पटवारी भर्ती में 15 लाख, एसआई में 7 लाख, कांस्टेबल भर्ती 2019 में 17.50 लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे। पिछले 4 साल में भर्तियों के अटकने और नकल गिरोह के कारण 70 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी प्रभावित हुए हैं।

भर्तियों से मालामाल बोर्ड, बेरोजगारों की कटी जेब

  • राजस्थान में बड़ी परीक्षाएं RPSC, RSMSSB, RBSE करवाती हैं।
  • बीते 1 साल में 5 बड़ी परीक्षाओं से ही भर्ती एजेंसियों ने 90 करोड़ से ज्यादा की कमाई की।
  • SI भर्ती परीक्षा में 8 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। जिससे RSMSSB को 12 करोड़ रुपए मिले।
  • RAS- 2018 के लिए 6 लाख 50 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। इससे RPSC को 9 करोड़ रुपए मिले।
  • REET 2021 के लिए 26 लाख आवेदन हुए। RBSE ने इससे 40 करोड़ से ज्यादा की कमाई की।
  • पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए 15 लाख के करीब आवेदन हुए। इससे RSMSSB को 6 करोड़ रुपए मिले।
  • National Testing Agency ने NEET के आवेदनों से ही तीन साल में 565 करोड़ की कमाई कर ली।
  • 2019 में नीट के आवेदन से 192 करोड़, 2020 में 200 करोड़, 2021 में 173 करोड़ रुपए कमाई की।

ये भी पढ़ें-